Monday , December 18 2017

असद ओवैसी की अज़खु़द अदालत में सुपुर्दगी, हुकूमत का कोई रोल नहीं

हैदराबाद 24 जनवरी: चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने वाज़िह किया कि मजलिसी क़ाइदीन की गिरफ़्तारी में इन का यह उन की हुकूमत का कोई रोल नहीं है बल्के क़ानून अपना काम कर रहा है। नरसापूर ज़िला मेदक के दौरे के मौके पर एक जल्सा-ए-आम से ख़िताब क

हैदराबाद 24 जनवरी: चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने वाज़िह किया कि मजलिसी क़ाइदीन की गिरफ़्तारी में इन का यह उन की हुकूमत का कोई रोल नहीं है बल्के क़ानून अपना काम कर रहा है। नरसापूर ज़िला मेदक के दौरे के मौके पर एक जल्सा-ए-आम से ख़िताब करते हुए किरण कुमार रेड्डी ने मजलिसी क़ाइदीन की हालिया गिरफ़्तारी का हवाला दिया और क़ाइदीन का नाम लिए बगैर साफ़ लफ़्ज़ों में कहा कि उन की हुकूमत मज़हबी मुनाफ़िरत फैलाने की किसी भी कोशिश को बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्हों ने उन पर और उन की हुकूमत पर फ़िर्कापरस्ती के इल्ज़ामात को भी मुस्तारिद करदिया।

चीफ मिनिस्टर ने कहा कि जो कोई भी शख़्स क़ानून की ख़िलाफ़वरज़ी करेगा और अवाम के दरमियान नफ़रत पैदा करते हुए इन में तफ़र्रुक़ा पैदा करेगा , उन के ख़िलाफ़-ए-क़ानून अपनी कार्रवाई करेगा।

मेदक के सांग रेड्डी में असद ओवैसी की अदालती तहवील का हवाला देते हुए चीफ मिनिस्टर ने कहा कि मजलिसी क़ाइद 2005 के एक मुक़द्दमा के सिलसिले में अदालत में ख़ुद सुपुर्दगी इख़तियार की और अदालत ने उन्हें रीमांड किया। इस मुक़द्दमे में माख़ूज़ दीगर अफ़राद ने पहले ही ज़मानत हासिल करली थी जबके उन्हों ने ज़मानत हासिल नहीं की जिस पर अदालत ने उन्हें रीमांड किया ।

अदालत की इस कार्रवाई से आख़िर हुकूमत का क्या ताल्लुक़ है। इस में हुकूमत की मुदाख़िलत का इल्ज़ाम बे बुनियाद है। उन्हों ने हुकूमत की तरफ से सियासी इंतेक़ामी कार्रवाई की तरदीद करते हुए कहा कि क़ानून तमाम के लिए यकसाँ है और वो ख़िलाफ़वरज़ी करने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करता है।

किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि उन की हुकूमत हैदराबाद में अमन और फ़िर्कावाराना हम आहंगी की बरक़रारी की पाबंद है। उन्हों ने इंतिबाह दिया कि अमन‍ओ‍ ज़ब्त के लिए ख़तरा पैदा करने वालों से सख़्ती से निमटा जाएगा। उन्हें चाहीए कि वो मासूम अफ़राद को मुश्तइल करना बंद करदें और क़ानून और दस्तूर के दायरे में रह कर काम करें। चीफ मिनिस्टर ने कहा कि वो तमाम तबक़ात को साथ लेकर काम करने के क़ाइल हैं और कोई भी मज़हब दूसरे मज़हब को बुरा भला कहने की तालीम नहीं देता। अगर कोई मज़हब की बुनियाद पर दीगर मज़ाहिब के ख़िलाफ़ नफ़रत पैदा करने की कोशिश करेगा तो हुकूमत बर्दाश्त नहीं करेगी ।

हैदराबाद हिन्दुस्तान में और फ़िर्कावाराना हम आहंगी का गहवारा है। यहां तमाम मज़ाहिब के मानने वाले भाई चारगी के साथ ज़िंदगी गुज़ारते हैं। हुकूमत चाहती है कि हैदराबाद इसी तरह अमन-ओ-आहंगी का गहवारा बना रहे। उन्हों ने हैदराबाद में ईदैन और तहवारों को हिन्दु मुस्लिम अवाम की तरफ से मिल कर मनाए जाने का तज़किरा किया और कहा कि हैदराबाद में इसी तरह के माहौल को वो बरक़रार रखना चाहते हैं। अगर कोई इस माहौल को बिगाड़ने की कोशिश करेगा चाहे वो किसी मज़हब से ताल्लुक़ क्यों ना रखता हो हुकूमत इस के साथ सख़्ती से निमटेगी।

किरण कुमार रेड्डी ने इस मौके पर मुसलमानों को ईद मीलाद उन्नबी(pbuh) की मुबारकबाद पेश की। अलहदा तेलंगाना मसले पर जारी सरगर्मियों का हवाला देते हुए किरण कुमार रेड्डी ने उम्मीद ज़ाहिर की के तेलंगाना पर जारी ग़ैर यक़ीनी बहुत जल्द ख़त्म होजाएगी। उन्हों ने कहा कि उन की आमद के मौके पर उन्हें वुज़रा की मौजूदगी की तवक़्क़ो थी लेकिन वुज़रा और अरकान एसेम्ब्ली दिल्ली के दौरा पर हैं। दोनों इलाक़ों के अवाम के लिए क़ाबिल-ए-क़बूल हल निकल आने की उम्मीद है। चीफ मिनिस्टर ने कहा कि नई दिल्ली में सूरत-ए-हाल नुक़्ता उरूज पर पहुंच चुकी है। इस बारे में वो भी सन रहे हैं। ये हक़ीक़त है यह नहीं वो ख़ुद भी नहीं जानते।

TOPPOPULARRECENT