असम: नागरिकता खोने के डर से 88 वर्षीय बुज़ुर्ग ने की खुदखुशी!

असम: नागरिकता खोने के डर से 88 वर्षीय बुज़ुर्ग ने की खुदखुशी!

एक 88 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति ने असम में एक विदेशी घोषित किए जाने की संभावना पर और निरोध केंद्र भेजे जाने पर अपना जीवन समाप्त कर दिया। अशरफ अली का शव एक स्कूल कैंपस से मिला था जो गुवाहाटी के पश्चिम में 70 किलोमीटर दूर बोको में सोंटोली में स्थित है।

अशरफ अली शनिवार से लापता था। घर छोड़ने से पहले, उसने अपने परिवार को बताया कि वह अपने दैनिक रमजान के उपवास को समाप्त करने के लिए भोजन प्राप्त करने के लिए बाहर जा रहा है। उनके परिवार को संदेह है कि वह बाजार गए, जहर खरीदा और उसको खा लिया।

बताया जा रहा है कि मृतक अशरब अली का नाम एनआरसी के अंतिम ड्राफ्ट में शामिल था, लेकिन किसी के आपत्ति जताने के कारण उनका नाम लिस्ट से निकाल दिया गया। एनआरसी से नाम हटने पर अशरब अली परेशान थे। पड़ोसियों का कहना है कि इसी चिंता के कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली।

बता दें कि डॉक्युमेंट में अली की उम्र 88 साल बताई जा रही है और उनका नाम 1971 के वोटर लिस्ट में भी शामिल है।

अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया गया है और पुलिस ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने के बाद मौत का कारण स्पष्ट होगा।

Top Stories