Monday , December 18 2017

असेंबली में शोर-ओ-गुल के दौरान तेलंगाना बिल मुस्तर्द

रियासती क़ानूनसाज़ असेंबली में तेलंगाना बिल को नदाई वोट से मुस्तर्द कर दिया गया। जिस के साथ ही कई दिनों से जारी ड्रामा ख़त्म हुआ और कांग्रेस को पशेमानी हुई है लेकिन इस बिल के इस्तिर्दाद से नई रियासत के क़ियाम की राह में कोई रुकावट नह

रियासती क़ानूनसाज़ असेंबली में तेलंगाना बिल को नदाई वोट से मुस्तर्द कर दिया गया। जिस के साथ ही कई दिनों से जारी ड्रामा ख़त्म हुआ और कांग्रेस को पशेमानी हुई है लेकिन इस बिल के इस्तिर्दाद से नई रियासत के क़ियाम की राह में कोई रुकावट नहीं है।

रियासती असेंबली की 279 रुकनी मूसिर अक्सरीयत के साथ एवान में सीमांध्र अरकान की 160 ग़ालिब अक्सरीयत ने बिल को मुस्तर्द कर दिया जिस में स्पीकर और चीफ़ मिनिस्टर भी शामिल हैं।

असेंबली ने मर्कज़ की हिमायत वाले ए पी रीआर्गेनाईज़ेशन बिल 2013 को मुस्तर्द कर दिया जिस के शोर-ओ-गुल और ड्रामाई मनाज़िर के दरमयान स्पीकर मनोहर ने चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी की तरफ से पेश करदा क़रारदाद को एवान के सामने रखा इस क़रारदाद में बिल को मुस्तर्द करदेने का मुतालिबा किया गया था।

क़रारदाद में कहा गया कि ये एवान ए पी रीआर्गेनाईज़ेशन बिल 2013 को मुस्तर्द करता है। इज़्ज़त सदर जमहूरीया से दरख़ास्त की गई कि वो इस बिल को पार्लियामेंट में पेश करने की सिफ़ारिश ना करें चूँकि ये बिल रियासत आंध्र प्रदेश की तक़सीम के लिए है जिस पर कोई इत्तिफ़ाक़ राय नहीं है।

इसी दौरान रियासती क़ानूनसाज़ कौंसिल में भी सदर नशीन कौंसिल ए चकरा पानी ने भी क़ाइद एवान रियासती क़ानूनसाज़ कौंसिल-ओ-वज़ीर हिंद इंडो मेंट सी रामचंद्र या की तरफ से पेश करदा तहरीक को तेलंगाना अरकाने कौंसिल की तरफ से एहतेजाज के दौरान नदाई वोट से मंज़ूरी देने का एलान किया।

स्पीकर रियासती क़ानूनसाज़ असेंबली मनोहर ने आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद मुसव्वदा बिल 2013 (तेलंगाना मुसव्वदा बिल) पर एवान में मुबाहिस के ख़त्म होजाने का एलान किया और एवान को बताया कि मज़कूरा बिल पर 86 अरकाने असेंबली बिशमोल चीफ़ मिनिस्टर बाज़ रियासती वुज़रा अप्पोज़ीशन जमातों के क़ाइदीन ने मुबाहिस में हिस्सा लेते हुए अपने ख़्यालात का इज़हार किया।

फ़िक़रा वारी असास पर उन्हें जुमला 9,072 तरमीमात से मुताल्लिक़ तजावीज़ वसूल हुईं। स्पीकर रियासती असेंबली ने बताया कि एवान की कार्रवाई कमेटी (बिज़नस एडवाइज़री कमेटी) में किए गए फ़ैसलों के मुताबिक़ ही तरमीमात से मुताल्लिक़ तजावीज़ जो वसूल हुई हैं, इन तमाम तजावीज़ को सदर जमहूरीया के हाँ ज़रूर रवाना करने का स्पीकर असेंबली ने एलान किया।

स्पीकर असेंबली ने चीफ़ मिनिस्टर की तरफ से पेश करदा तहरीक को मंज़ूर कर लेने का एलान करते हुए सिर्फ़ अंदरून चार मिनट असेंबली के मीटिंग को ग़ैर मुअय्यना मुद्दत के लिए मुल्तवी करने का एलान किया।

सुबह 9 बजे एवान की कार्रवाई का जैसे ही आग़ाज़ हुआ, एवान में कार्रवाई के आग़ाज़ से पहले ही तेलंगाना अरकाने असेंबली (बलातख़सीस सियासी वाबस्तगी) और सीमांध्र अरकाने असेंबली ने पोडियम के क़रीब और एवान के वस्त में ठहर कर एहतेजाज शुरू करने के लिए तैयार थे और जैसे ही स्पीकर असेंबली मनोहर कुर्सी-ए-सदारत पर फ़ाइज़ हुए, ज़बरदस्त नारा बाज़ी, हंगामा आराई, शोर-ओ-गुल का आग़ाज़ होगया।

स्पीकर ने दरयाफ़त किया कि आया ये एवान ही है और हम कहाँ हैं और क्या कररहे हैं। उन्होंने सख़्त लहजा में कहा कि आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद मुसव्वदा बिल 2013 (तेलंगाना मुसव्वदा बिल) पर मुबाहिस में हिस्सा लेने वालों को चाहीए कि वो इस आख़िरी मौके से भरपूर इस्तिफ़ादा करें और एवान की कार्रवाई को जारी रखने में तआवुन करने की तमाम एहतेजाजी अरकान से अपील की।

स्पीकर असेंबली ने इस दौरान मुख़्तलिफ़ जमातों की तरफ से पेश करदा तहरीकात अलतवा को मुस्तर्द करने का एलान किया और एवान में पाई जाने वाली बदनज़मी, शोर शराबा, हंगामा आराई , नारा बाज़ी और एहतेजाज को देखते हुए एवान की कार्रवाई को मुल्तवी कर दिया।

दुबारा तक़रीबन दो घंटों बाद दूसरी मर्तबा 11 बजे एवान की कार्रवाई शुरू हुई। एहतेजाजी नारेबाज़ी जारी थी। स्पीकर असेंबली के कुर्सी-ए-सदारत पर फ़ाइज़ होने के साथ ही एवान में अचानक ख़ामोशी छा गई और स्पीकर ने एहतेजाजी अरकान से नशिस्तों पर बैठ जाने की अपील की।

इस के साथ ही तमाम अरकान ने ग़ैर मुतवक़्क़े तौर पर डिसिप्लिन का मुज़ाहरा करते हुए अपनी नशिस्तों पर बैठ गए। स्पीकर असेंबली ने गांधी की वर्धितती के मौके पर उन्हें भरपूर ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश किया और बतौर एहतेराम तमाम अरकान ने अपनी नशिस्तों से उठ कर 2 मिनट की ख़ामोशी मनाई।

इस तरह 11 बजे 3 मिनट पर स्पीकर असेंबली ने किसी वजह के बगै़र 10 मिनट के लिए एवान की कार्रवाई को मुल्तवी करने का एलान किया। जब तीसरी मर्तबा एवान की कार्रवाई का तक़रीबन निस्फ़ घंटा बाद ठीक 11:30 बजे जैसे ही एवान की कार्रवाई शुरू करने के लिए घंटी बजाई गई। तमाम अरकाने असेंबली सीमांध्र और तेलंगाना ने मंसूबा बंद अंदाज़ में स्पीकर के पोडियम और एवान के वस्त को अमलन घेरे रखा था। यहां तक कि इमकानी गड़बड़ -ओ-घूंसा बाज़ी के अंदेशों को पेशे नज़र रखते हुए मार्शलस को भी ऑफीसर बॉक्स में ताय्युनात कर दिया गया था।

TOPPOPULARRECENT