Saturday , December 16 2017

अस्करियत पसंदों ने मग़्विया जर्मन शहरीयों को रिहा कर दिया

अलक़ायदा से मरबूत इस्लामी अस्करियत पसंदों की क़ैद में ज़ाइद अज़ 6माह रहने वाले दो जर्मन ब्रामा लीयों को आज रिहा कर दिया गया जिन्हें फ़िलीपीयन‌ में क़ैद रखा गया था। जर्मन यरग़मालियों के नाम इसटीफ़ान विक्टर ओकोनीक को मग़रिबी फ़िलीपीयन‌ म

अलक़ायदा से मरबूत इस्लामी अस्करियत पसंदों की क़ैद में ज़ाइद अज़ 6माह रहने वाले दो जर्मन ब्रामा लीयों को आज रिहा कर दिया गया जिन्हें फ़िलीपीयन‌ में क़ैद रखा गया था। जर्मन यरग़मालियों के नाम इसटीफ़ान विक्टर ओकोनीक को मग़रिबी फ़िलीपीयन‌ में अब्बू सैफ अस्करीयत पसंद ग्रुप ने माह अप्रैल में यरग़माल बना लिया था।

अलक़ायदा से मरबूत इस अस्करीयत पसंद तंज़ीम ने यरग़मालियों की रिहाई केलिए 5.6 मीलियन‌ अमरीकी डॉलर्स बतौर तावान तलब किए थे और मोहलत के कल ख़त्म होने से कुछ देर क़बल यरग़मालियों को रिहा कर दिया गया। ग्रुप ने जर्मनी से ये भी मुतालिबा किया था अमरीका की जानिब से दौलत इस्लामिया अस्करीयत पसंदों पर जो फ़िज़ाई हमले किए जा रहे हैं वो इन हमलों की हिमायत करना बंद करदे ।

याद रहे कि इराक़ और शाम में दौलते इस्लामीया ( आई ऐस) अस्करीयत पसंदों पर अमरीकी फ़िज़ाई हमले किए जा रहे हैं। अस्करीयत पसंदों ने अपने मुतालिबे की अदम तकमील पर दो जर्मन यरग़मालियों में से एक को हलाक करदेने की धमकी की थी। दीं असना जर्मन की विज़ारत-ए-ख़ारजा ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि उन्हें ये जान कर बेहद इतमीनान हुआ कि दोनों यरामाल क़ैद से आज़ाद होचुके हैं और उन्हें अब मनीला में जर्मन सिफ़ारत ख़ाना के स्टाफ़ की निगरानी में रखा गया है।

TOPPOPULARRECENT