Tuesday , November 21 2017
Home / India / अस्पताल ने 500 और 1000 रुपए के नोट लेने से किया इनकार , इलाज न मिलने से बच्चे की मौत

अस्पताल ने 500 और 1000 रुपए के नोट लेने से किया इनकार , इलाज न मिलने से बच्चे की मौत

मुंबई : मोदी सरकार द्वारा नोट बैन किये जाने के फैसले से आम जनता को बेहद परेशानी हो रही है | ऐसे ही एक मामले में मुंबई के एक प्राइवेट अस्पताल में सामने आया है | प्राइवेट अस्पताल में एक बच्चे की मौत सिर्फ़ इसलिए हो उसके पिता के पास 500 और 1000 रुपए के नोट थे इसलिए अस्पताल ने बच्चे का इलाज करने से मना कर दिया था |

बच्चे के पिता जगदीश ने बताया कि उनकी पत्नी किरन को बुधवार को लेबर पेन शुरू हुआ था | जिसके बाद वह अपनी पत्नी को मुंबई के एक प्राइवेट अस्पताल जीवन ज्योति लेकर आया | लेकिन अस्पताल ने बच्चे का इलाज करने से मना कर दिया क्यूंकि जगदीश के पास 500 और 1000 रुपए के नोट थे। | समय पर इलाज न मिल पाने की वजह से नवजात बच्चे की मौत हो गई है।

जगदीश के मुताबिक़ अस्पताल ने 6 हजार जमा करने के लिए कहा था | लेकिन उसके पास 500 और 1000 रुपए के नोट थे |  अस्पताल ने ये नोट लेने से मना कर दिया | जगदीश ने बताया कि मैंने अस्पताल से बार बार आग्रह करते हुए केंद्र सरकार के निर्देश का हवाला भी दिया | जिसमें कहा गया था अस्पतालों को 500 और 1000 रुपए के नोट लेने के लिए कहा था | शर्मा ने ये भी दावा किया कि अस्पताल ने उसे बच्चे की फ़ाइल भी नहीं दी | जिसकी वजह से वह बच्चे को दूसरे अस्पताल भी नहीं ले जा सका | गुरुवार को तेज बुखार की वजह से बच्चे की मौत हो गयी |

जगदीश ने बताया कि इस मामले की पुलिस में लिखित शिकायत दी गयी है | अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की गयी है | इस मामले में पुलिस ने अस्पताल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है| जबकि पीड़ित परिवार के दावे से इनकार करते हुए अस्पताल प्रशासन ने इसे झूठा बताया है |

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद करने का ऐलान किया था। हालांकि उन्होंने अस्पतालों, पेट्रोल पंप और रेलवे स्टेशन तथा बस स्टैंड पर टिकटों के लिए पुराने नोटों को लेने के लिए 11 नंवबर रात 12 बजे तक की छूट दी थी | बाद में ये समय सीमा बढ़ाकर 14 नंवबर तक कर दी गयी थी |

 

TOPPOPULARRECENT