Thursday , December 14 2017

अहाता असम्बली में बाबा अंबेडकर का मुजस्समा नसब करने का मुतालिबा

हैदराबाद। यकम जनवरी (सियासत न्यूज़) सदर नशीन तेलंगाना जागृति श्रीमती कवीता कलवाकनताला स्पीकर रियास्ती असम्बली मिस्टर यन मनोहर से मुलाक़ात करते हुए उन्हें एक याददाश्त पेश की इस मौक़ा पर उन के हमराह तेलंगाना जवाइंट ऐक्शण कमेटी

हैदराबाद। यकम जनवरी (सियासत न्यूज़) सदर नशीन तेलंगाना जागृति श्रीमती कवीता कलवाकनताला स्पीकर रियास्ती असम्बली मिस्टर यन मनोहर से मुलाक़ात करते हुए उन्हें एक याददाश्त पेश की इस मौक़ा पर उन के हमराह तेलंगाना जवाइंट ऐक्शण कमेटी ग्रेटर हैदराबाद के चीयरमैन ए दयाकर और दीगर भी मौजूद थे बादा ज़ां कवीता ने याददाश्त के मुताल्लिक़ मीडीया को वाक़िफ़ करवाते हुए कहा कि मुजव्वज़ा यौम जमहूरीया तक़रीब के मौक़ा पर अहाता असम्बली में

बाबा साहिब अंबेडकर का मुजस्समा नसब करने का मुतालिबा करते हुए तेलंगाना जागृति की जानिब से एक याददाश्त स्पीकर असम्बली के हवाले की गई है उन्हों ने मज़ीद कहाकि हिंदूस्तानी आईन के मेअम्मार अंबेडकर जो 1947से लेकर 1951 तक वज़ीर-ए-क़ानून की हैसियत से भी नुमायां ख़िदमत अंजाम दी थीं और हिंदूस्तान में समाजी मसावात के फ़रोग़ और पिछड़े तबक़ात की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए अपनी आख़िरी सांस तक जद्द-ओ-जहद की थी ।

उन्हों ने दस्तूर हिंद की तर्तीब के वक़्त हिंदूस्तान के तमाम तबक़ात को मसावियाना हुक़ूक़ फ़राहम करने की कोशिश की थी। कवीता ने कहाकि तेलंगाना जागृति की जानिब से स्पीकर रियास्ती असम्बली को पेश की गई याददाश्त में अहाता असम्बली में भी 26जनवरी से क़बल बाबासाहब अंबेडकर का मुजस्समानसब करने का मुतालिबा किया गया

TOPPOPULARRECENT