Tuesday , July 17 2018

अक़ामती स्कूलस में दाख़िले के लिए आज क़ुरआ अंदाज़ी

हैदराबाद 31 मई:तेलंगाना में अक़लियतों के लिए क़ायम किए जानेवाले 71 अक़ामती स्कूलस में स्टूडेंट्स के चुनाव के लिए 31 मई को क़ुरआ अंदाज़ी की जाएगी। हर स्कूल के लिए जितनी दरख़ास्तें दाख़िल हुई हैं, उनमें से क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये स्टूडेंट्स का चुनाव किया जाएगा। पांचवें ता सातवीं जमात तक हर जमात में 40 स्टूडेंट्स के लिहाज़ से स्टूडेंट्स का चुनाव होगा और हर जमात में दो सेक्शन होंगे। बताया जाता है कि स्कूल की इमारत के एतबार से तादाद का ताय्युन किया जाएगा।

अगर इमारत वसी हो तो हर स्कूल में 240 स्टूडेंट्स को दाख़िला मिलेगा। बसूरत-ए-दीगर 120 स्टूडेंट्स को दाख़िला दिया जाये गा। 14 जून से बाक़ायदा तालीम का आग़ाज़ होगा। अक़लियती अक़ामती स्कूलस की सोसाइटी ने ऑनलाईन दरख़ास्तों के इदख़ाल का अमल मुकम्मिल कर लिया है। दरख़ास्तों के इदख़ाल की आख़िरी तारीख़ 28 मई थी और 71 स्कूलों के लिए दरकार 17040 नशिस्तों के लिए रिकार्ड तादाद में 39008 दरख़ास्तें दाख़िल हुई हैं। 26000 से ज़ाइद दरख़ास्तों के मुस्तर्द किए जाने का अंदेशा है, जिससे सरपरस्तों में मायूसी फैल सकती है और सोसाइटी को सरपरस्तों की नाराज़गी का सामना करना पड़ सकता है। स्कूलों के लिए कॉन्ट्रैक्ट की बुनियाद पर रिटायर्ड प्रिंसिपलस की ख़िदमात हासिल की गईं जो क़ुरआ अंदाज़ी अंजाम देंगे।

माहिरीन का कहना है कि सिर्फ क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीया तलबा के चुनाव का तरीका-ए-कार मुनासिब नहीं है, इस से हक़ीक़ी माअनों में काबुल तलबा दाख़िला से महरूम हो सकते हैं। पांचवें , छटवें और सातवें जमात में इंग्लिश मीडियम पर उबूर रखने वाले तलबा की ज़रूरत है। अगर कम मयार के तलबा का चुनाव कर लिया जाये तो इस का असर नताइज पर पढ़ सकता है। हुकूमत एक तरफ़ कॉरपोरेट तर्ज़ की मयारी तालीम देने का दावा कर रही है तो दूसरी तरफ़ तलबा के चुनाव में क़ुरआ अंदाज़ी का तरीका-ए-कार स्कूलस के मयार को कमज़ोर करसकता है । ज़रूरत इस बात की है कि हर क्लास में दाख़िला के लिए स्क्रीनिंग टसट मुनाक़िद किया जाए जिसकी बुनियाद पर तलबा का इंतिख़ाब हो। बताया जाता है कि 71 स्कूलस में 50 स्कूलस की इमारतें मुकम्मल तौर पर तैयार हैं।

जबकि दुसरे इमारतों में तामीर-ओ-मरम्मत का काम अभी जारी है। सोसाइटी ने प्रिंसिपलस और असातिज़ा का आऊटसोर्सिंग की बुनियाद पर तक़र्रुर किया है जबकि मुस्तक़िल तक़र्रुत पब्लिक सर्विस कमीशन के ज़रीये किए जाऐंगे। सोसाइटी के नायब सदर नशीन ए के ख़ां डायरेक्टर जनरल एंटी करप्शन ब्यूरो ने दाख़िलों के लिए अक़लियतों में शऊर बेदारी पर मुसर्रत का इज़हार किया।

TOPPOPULARRECENT