Saturday , December 16 2017

अख़लाक के क़त्ल पर आजम बोले…….

गाजियाबाद: यूपी के दादरी में एक बेकसूर मुसलमान को सिर्फ गाय का गोश्त खाने की अफवाह फैलने के बाद पीट-पीटकर क़त्ल करने के मामले में बीजेपी लीडरो के जवाब सामने आए हैं। इनका कहना है कि अगर घर में बीफ रखा था तो मुतास्सिरा खानदान की गलती थी।

लीडरों ने यह भी कहा कि क़त्ल के मुल्ज़िमों के खिलाफ मर्डर नहीं, गैर इरादतन क़त्ल का मामला दर्ज हो। वहीं, यूपी के शहरी तरक्कियाती वज़ीर आजम खान ने अखलाक की मौत को लेकर मोदी पर हमला बोला है।

आजम ने कहा है कि पीएम जी अपने कारकुनो को रोकिये। गौरतलब है कि पीर के रोज़ बिसारा गांव में 50 साल के अखलाक को पीटकर क़त्ल कर दी गया, जबकि उसके बेटे दानिश को अधमरा कर दिया गया।

आजम खान ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम जी अपने कारकुनो को रोकिए। जिंदगी, सियासत और ओहदा हमेशा के लिए नहीं होते हैं, लेकिन बदनामी हमेशा के लिए होती है। अभी आपके माथे और दामन से 2002 के गुजरात दंगो का दाग नहीं हटा है और रहती दुनिया तक हटेगा भी नहीं।

आप अपने कारकुनो से ऐसी हरकते मत कराईये। इस मुल्क को आप कहां ले जा रहे है। आजम खान ने कहा की कमजोर और अकेले मुसलमान को इस तरह मार देना सबसे बडी नामर्दी और बुजदली कायरता है।

आजम खान ने ज़िला इंतेज़ामिया पर निशाना साधा और कहा कि मंदिर से ऐलान किये जाने के बाद भी वक्त से पुलिस फोर्स नहीं पहुंची। आजम ने कहा कि आप अपनी ही हुकूमत से सवाल क्यों नहीं पूछ रहे हैं कि ऐसा हुआ कैसे… ये अफसोसनाक बात है।

आजम ने कहा कि बीजेपी इस कोशिश में है की वो 2017 के इंतेखाबात से पहले कोई बडा कत्ल-ए-आम उत्तर प्रदेश में करे।खान ने कहा कि किसी ने गाय का गोश्त खाया है इस शक में कि किसी की जान ले लेना…इससे तो इंसानियत भी शर्माती है और अगर यही बहादुरी दिखाना है तो बंगाल, त्रिपुरा, मेघालय, गोवा, पांडिचेरी, नागालेंड जाइये जहां खुले आम दुकानों पर गाय का गोश्त बिकता है, वहां जाकर बहादुरी दिखाए।

ग्रेटर नोएडा के बिस़ाडा गांव में गाय का गोश्त पकाने के इल्ज़ाम में भीड ने एक शख्स का कत्ल कर दिया। कत्ल के बाद इलाके में कुछ तशद्दुद हुई, लेकिन अब हालात पुरअमन हैं। फौतशुदा शख्स के खानदान का इल्ज़ाम है कि गाय का गोश्त पकाने के इल्ज़ाम झूठे हैं। इलाके में बदअमनी फैलाने के लिए कुछ लोगों ने झूठी अफवाह फैलाई।

यह वाकिया पीर की रात की है। मुतास्सिरा खानदान ने बताया कि गांव के एक मंदिर के लाउडस्पीकर से इस बात का एलान हुआ कि अखलाक के घर पर गाय काटकर उसका गोश्त पकाया गया है।

इस पर भडके दूसरे फरीक के करीब 50 नौजवानो ने अखलाक के घर पर धावा बोल दिया। घर में जमकर तोड-फोड की और घर से लोगो को बुरी तरह से पीटा। हमले में अखलाक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बेटे की हालत नाज़ुक है और उसका इलाज एक सरकारी अस्पताल में चल रहा है।

अखलाक के क़त्ल के इल्ज़ामात में पुलिस ने अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और बाकी मुल्ज़िमो की तलाश में जुटी हुई है, लेकिन गैर समाजी अनासिर ने इलाके की फिजा बिगाड दी है।

TOPPOPULARRECENT