Thursday , December 14 2017

अफ़ज़ल गुरु की दरख़ास्त रहम मुख़्तलिफ़ मराहिल में ज़ेर-ए-ग़ौर

नई दिल्ली, ०१ दिसम्बर (पी टी आई) हुकूमत ने आज कहा कि अफ़ज़ल गुरु के बिशमोल तक़रीबन 20 सज़ाए याफ़ता मुजरिमीन की दरख़ास्त रहम मुख़्तलिफ़ मरहलों में ज़ेर अलतवा है। इन दरख़ास्तों पर हुकूमत ग़ौर कर रही है।

नई दिल्ली, ०१ दिसम्बर (पी टी आई) हुकूमत ने आज कहा कि अफ़ज़ल गुरु के बिशमोल तक़रीबन 20 सज़ाए याफ़ता मुजरिमीन की दरख़ास्त रहम मुख़्तलिफ़ मरहलों में ज़ेर अलतवा है। इन दरख़ास्तों पर हुकूमत ग़ौर कर रही है।

इस सिलसिले में कोई ख़ुसूसी वक़्त मुक़र्रर नहीं किया गया है कि आया उन दरख़ास्तों पर कब फ़ैसला किया जाना चाहियॆ। दस्तूर में भी ऐसी कोई गुंजाइश नहीं रखी गई है कि रहम की दरख़ास्तों पर फ़ैसला करने के लिए वक़्त का ताय्युन किया जायॆ।

राज्य सभा को मतला करते हुए मुमलिकती वज़ीर-ए-दाख़िला ऐम रामचंद्रन ने कहा कि रहम की दरख़ास्तों के मुआमले को सदर जमहूरीया के सकरीटरीट में दाख़िल किया गया है ।

उन पर आजलाना कार्रवाई के लिए बाअज़ दरख़ास्तों को दुबारा पेश किया गया। नवंबर 2009-ए-से सदर जमहूरीया की जानिब से 13 रहम की दरख़ास्तों पर फ़ैसला किया गया। दस्तूर के आर्टीकल 72 के तहत इस तरह के दरख़ास्तों पर फ़ैसला करने के लिए कोई हद या वक़्त मुक़र्रर नहीं किया गया ही। इस वक़्त अफ़ज़ल गुरु के बिशमोल 20 रहम की दरख़ास्तें ज़ेर-ए-ग़ौर हैं।

TOPPOPULARRECENT