Sunday , December 17 2017

अफ़ज़ल गुरु फांसी: वादी कश्मीर में तीसरे रोज़ भी कर्फ्यू, अख़बारात की अदम इशाअत

श्रीनगर, 12 फरवरी: (पी टी आई) पार्लियामेंट पर हमलावर मुजरिम अफ़ज़ल गुरु की फांसी के बाद वादी कश्मीर में आज तीसरे रोज़ भी कर्फ्यू नाफ़िज़ रहा। यहां तक कि मोबाईल इंटरनेट ख़िदमात भी मस्दूद कर दी गई थीं और अख़बारात भी शाय नहीं हुए। आज सुबह से ह

श्रीनगर, 12 फरवरी: (पी टी आई) पार्लियामेंट पर हमलावर मुजरिम अफ़ज़ल गुरु की फांसी के बाद वादी कश्मीर में आज तीसरे रोज़ भी कर्फ्यू नाफ़िज़ रहा। यहां तक कि मोबाईल इंटरनेट ख़िदमात भी मस्दूद कर दी गई थीं और अख़बारात भी शाय नहीं हुए। आज सुबह से ही वादी में अवाम की नक़ल-ओ-हरकत पर मज़ीद पाबंदियां आइद कर दी गयी क्योंकि महकमा पुलिस को अंदेशा है कि जे के एल एफ के बानी मुहम्मद मक़बूल बट की 29 वीं बरसी के मौक़ा पर बड़े पैमाना पर एहतिजाज हो सकता है।

याद रहे कि मक़बूल बट एक पुलिस ऑफीसर को क़त्ल करने के मुल्ज़िम थे जिन्हें तिहाड़ जेल के अंदर आज ही के रोज़ 1984 में फांसी पर लटका दिया गया था । अफ़सल गुरु की फांसी के बाद वादी के कई इलाक़ों में ज़बरदस्त एहतिजाज मुनज़्ज़म किया गया था जिनके बाद सेक्युरिटी फ़ोर्स ने अवामी नक़ल-ओ-हरकत पर मज़ीद पाबंदियां आइद कर दी।

सिर्फ़ लाज़िमी ख़िदमात और एंबूलेंस ख़िदमात से मरबूत अफ़राद को कर्फ्यू ज़दा इलाक़ों में आमद‍ ओ‍ रफ्त की इजाज़त थी । हफ़्ता से अब तक झड़पों में दो अफ़राद हलाक और 50 ज़ख़मी हो गए जिनमें 23 पुलिस अहलकार भी शामिल हैं। दरि असना पी टी आई से मिलने वाली एक और ख़बर के मुताबिक़ बी एस एफ की मज़ीद 14 कंपनियों को वादी कश्मीर तलब किया गया है ताकि ला एंड आर्डर की सूरत-ए-हाल को क़ाबू में रखा जा सके।

जम्मू फ्रंटियर से पाँच कंपनियों को हटाकर कल वादी कश्मीर भेज दिया गया जबकि बी एस एफ की मज़ीद नौ कंपनियों को भी आज वादी कश्मीर में तलब किया गया है । मुसलसल तीसरे रोज़ भी अख़बारात ना होने से अवाम में शदीद बेचैनी पाई जा रही है।

यहां इस बात का तज़किरा भी ज़रूरी है कि मर्कज़ी हुकूमत इस मुआमला में कोई ख़तरा मोल लेना नहीं चाहती लिहाज़ा एक ख़ुसूसी ट्रेन से सी आर पी एफ की मज़ीद कंपनियां दिल्ली से रवाना की जा रही हैं ।

TOPPOPULARRECENT