Saturday , December 16 2017

अफ़्ग़ानिस्तान में पुराने जंगी सरदारोँ की नई सियासी पार्टी

साबिक़ अफ़्ग़ान जंगी सरदारोँ और मेम्बरान पार्लियामेंट ने एक नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है, जो अपने मुतालिबात मनवाने के लिए काबूल हुकूमत पर दबाव डालेगी। यूं गुज़िश्ता चौदह सालों बाद अफ़्ग़ानिस्तान में पहली अपोज़ीशन पार्टी वजूद में आई है।

अमरीकी ख़बररसां इदारे एसोसीएटड प्रैस ने बताया है कि अफ़्ग़ानिस्तान में क़ायम की जाने वाली नई सियासी जमात अफ़्ग़ानिस्तान प्रोटेक्शन ऐंड स्टाबिलिटी कौंसिल APSC की कोशिश होगी कि वो मईशत और सलामती से मुताल्लिक़ हुकूमती वादों पर अमल दरामद के लिए काबूल हुकूमत पर दबाव डाले।

इस नई पार्टी के रहनुमा अब्दुल रसिवल सय्याफ़ ने ए पी से गुफ़्तगु करते हुए कहा कि उनकी सियासी जमात कोई हुकूमत मुख़ालिफ़ इदारा नहीं है। इस साबिक़ मिलिशिया कमांडर के बाक़ौल पार्टी मंशूर हुकूमत से अहम बुनियादी इस्लाहात का मुतालिबा करता है।

उनका ये भी कहना था कि हुकूमत ने जो वाअदे किए हैं, उन पर अमल दरामद को यक़ीनी बनाने के लिए उनकी पार्टी निगरानी का काम करेगी।

TOPPOPULARRECENT