Monday , December 18 2017

आंध्र प्रदेश के बजट में माली ख़सारा

वज़ीरे फाइनैंस आंध्र प्रदेश वाई राम कृष्णुडू ने साल 2029 तक आंध्र प्रदेश को स्वर्णा आंध्र प्रदेश ( सुनहरे आंध्र प्रदेश) में तबदील करने के अज़म का इज़हार करते हुए रियासत आंध्र प्रदेश का साल 2014-15 के लिए 1,11,824 लाख रुपये पर मबनी बजट आज असेंबली

वज़ीरे फाइनैंस आंध्र प्रदेश वाई राम कृष्णुडू ने साल 2029 तक आंध्र प्रदेश को स्वर्णा आंध्र प्रदेश ( सुनहरे आंध्र प्रदेश) में तबदील करने के अज़म का इज़हार करते हुए रियासत आंध्र प्रदेश का साल 2014-15 के लिए 1,11,824 लाख रुपये पर मबनी बजट आज असेंबली में पेश किया जिस में नए मुहासिल आइद करने से गुरेज़ किया गया है।

अपनी बजट तक़रीर करते हुए वज़ीर फाइनैंस ने कहा कि आंध्र प्रदेश की तरक़्क़ी के लिए सात मशंस तशकील दिए गए हैं और रियासत की तक़सीम से आंध्र प्रदेश का माली ख़सारा इंतिहाई संगीन मसला बन गया। उन्होंने कहा कि पिछ्ले दो साल से रियासत का माली मौक़िफ़ अबतर-ओ-बदतरीन होकर रह गया है।

वज़ीर फाइनैंस ने अपनी बजट तक़रीर में आंध्रई तलबा को इस बात की तमानीयत दी कि फ़ीस रेिंबर्समेंट की अदायगी के लिए हुकूमत आंध्र प्रदेश पाबंद है और हुकूमत की हर इस्कीम को आधार कार्ड से मरबूत किया जाएगा।

तेलुगु देशम ज़ेर क़ियादत हुकूमत आंध्र प्रदेश बुनियादी ज़रूरीयात की तकमील के लिए ख़ुसूसी तवज्जा देगी। उन्होंने कहा कि हुकूमत एन टी आर अना के नाम से मौसूम आंध्र प्रदेश में कैंटीन क़ायम करने की कोशिश का आग़ाज़ करचुकी है।

वाई राम कृष्णुडू ने कापू और ब्रहमन तबक़ात की फ़लाह-ओ-बहबूद का तज़किरा करते हुए कहा कि इन तबक़ात के लिए तरजीही बुनियाद पर बजट में रक़ूमात मुख़तस की गई हैं और कापू तबक़ात को बयाक वर्ड क्लासेस में शामिल करने के लिए कमीशन का क़ियाम अमल में लाया जाएगा और पसमांदा तबक़ात की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए हुकूमत ना सिर्फ़ पाबंद है बल्कि अव्वलीन तर्जीह दी जाएगी।

उन्होंने अपनी बजट तक़रीर के दौरान एवान को इस बात से वाक़िफ़ करवाया कि वीज़न 2020 पर अज़ सर-ए-नौ ग़ौर करने अमल आवरी के लिए इक़दामात करने का हुकूमत ने फ़ैसला किया है। उन्होंने ई पेमेंट का तज़किरा करते हुए कहा कि ई पेमेंट तरीका-ए-कार के ज़रीये ही हुसूल आराज़ीयात का मुआवज़ा मुताल्लिक़ा अफ़राद को अदा किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पसमांदा तबक़ात की बहबूद के लिए बजट में 3130 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए हैं। जबकि अक़लियती तबक़ात की फ़लाह-ओ-बहबूद का तज़किरा करते हुए वज़ीरे फाइनैंस ने कहा कि तेलुगु देशम हुकूमत ने साल 2014-15के लिए अक़लियतों की बहबूद के लिए बजट में 371 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए हैं।

उन्होंने अक़लियतों से मुताल्लिक़ अपना इज़हारे ख़्याल करते हुए कहा कि मआशी तरक़्क़ी में अक़लियतों के लिए मुनासिब रक़ूमात फ़राहम की जा रही हैं और मौजूदा रूबा अमल लाई जाने वाली ईकीमात-ओ-प्रोग्रामों का तज़किरा करते हुए इन ईकीमात और नई ईकीमात के ज़रीया अक़लियतों को मुलाज़िमतों के मवाक़े फ़राहम करने ख़ुद रोज़गार ईकीमात के लिए अक़लियतों की मआशी-ओ-मालीयाती तरक़्क़ी की ईकीमात के लिए मुनासिब रुकमी सहूलयात फ़राहम करने के इक़दामात किए जाऐंगे।

उन्होंने कहा कि मर्कज़ी-ओ-रियासती इदारों में मुलाज़िमतों के हुसूल के लिए दरकार सहूलतें फ़राहम करने, फ़न्नी तर्बीयत फ़राहम करने के इक़दामात किए जाऐंगे। उन्होंने अक़लियती तबक़ा के तलबा-ए-के लिए प्रे मेट्रिक, पोस्ट मेट्रिक स्कालरशिपस की मंज़ूरी, बैंकों के ज़रीये फ़राहम किए जाने वाले कर्ज़ों के लिए सब्सीडी की फ़राहमी, हॉस्टलस की तामीर, अक़ामती मदारिस का क़ियाम, मसह बिकती इमतेहानात के लिए मुनासिब ट्रेनिंग प्रोग्राम्स महिकमा अक़लियती बहबूद की तरफ से अंजाम दिए जा रहे हैं।

अक़लियतों की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए दूकान-ओ-मकान, रोशनी जैसे नए प्रोग्राम्स‍ ओ‍ इस्कीमात को बेहतर अंदाज़ में रूबा अमल लाने के लिए इक़दामात किए जाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT