Friday , December 15 2017

आंध्र प्रदेश के लिए मर्कज़ का 850 करोड़ का पैकेज, टैक्स मुराआत

मर्कज़ ने आंध्र प्रदेश को मदद के तौर पर 850 करोड़ रुपये के तरक़्क़ीयाती पैकेज की मंज़ूरी दी। इस के अलावा कई टैक्स रियायतों का एलान किया ताकि रियासत को सनअती शोबे में सरमाया कारी के लिए राग़िब करने में मदद मिल सके।

मर्कज़ ने आंध्र प्रदेश को मदद के तौर पर 850 करोड़ रुपये के तरक़्क़ीयाती पैकेज की मंज़ूरी दी। इस के अलावा कई टैक्स रियायतों का एलान किया ताकि रियासत को सनअती शोबे में सरमाया कारी के लिए राग़िब करने में मदद मिल सके।

आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद एक्ट 2014 के तहत मर्कज़ इस बात का पाबंद हैके वो उसकी मदद करे, पसमांदा इलाक़ों और राइलसीमा के अलावा शुमाली साहिली इलाक़े के लिए ख़ुसूसी तरक़्क़ीयाती पैकेज फ़राहम करे।

वज़ारत फाइनैंस ने एक बयान में कहा हैके 350 करोड़ रुपये आंध्र प्रदेश के 7 पसमांदा अज़ला को फ़राहम करने का फ़ैसला किया गया है। हर ज़िला को 50 करोड़ रुपये दिए जाऐंगे।

साल 2014-15 के दौरान तरक़्क़ीयाती सरगर्मीयों में ये रक़म सिर्फ़ की जाएगी। बयान में ये भी कहा गया हैके वज़ारत-ए-दाख़िला ने बैन वज़ारती मुशतर्का कमेटी तशकील दी है जो रियासत की सूरत-ए-हाल का जायज़ा ले रही है और वो मर्कज़ी बजट 2014-15 में वसाइल के फ़र्क़ को ख़त्म करने के लिए सिफ़ारिशात पेश करेगी।

फ़िलहाल 500 करोड़ रुपये जारीया मालीयाती साल के लिए एडहॉक बुनियाद पर फ़राहम किए जा रहे हैं और कमेटी की सिफ़ारिशात पर बादअज़ां अमल किया जाएगा। मर्कज़ ने मालीयाती इक़दामात के अलावा टैक्स रियायतें देने का भी फ़ैसला किया है।

तेलंगाना की दस्तकारी अशीया को फ़रोग़ देने में तआवुन की ख़ाहिश
वज़ीर इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी के तारिक़ रामा राव‌ ने अमीज़ोन कंपनी पर ज़ोर दिया हैके वो तेलंगाना की दस्तकारी अशीया को ऑनलाइन पेश करे और मार्किट में उनकी हौसलाअफ़्ज़ाई की जाये।

आलमी ऑनलाइन रीटेल ख़िदमात फ़राहम करनेवाली कंपनी अमीज़ोन के वफ़द ने सेक्रेट्रियट में के टी आर से मुलाक़ात की। वज़ीर आई टी ने कंपनी से ख़ाहिश की के वो तेलंगाना की दस्तकारी अशीया को मार्किट में पेश करें।

उन्होंने कहा कि सेल्फ हेल्प् ग्रुपस की तैयार करदा अशीया, निर्मल टॉयज और पोचमपल्ली साड़ियों की बैन-उल-अक़वामी सतह पर काफ़ी मांग है। अमीज़ोन के नुमाइंदों ने हैदराबाद में अपने गोदाम क़ायम करने की ख़ाहिश की। तवक़्क़ो हैके इस ज़िमन में हुकूमत तेलंगाना के साथ याददाश्त मुफ़ाहमत पर अनक़रीब दस्तख़त किए जाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT