Friday , December 15 2017

आंध्र प्रदेश को ख़ुसूसी मौक़िफ़ देने में एन डी ए हुकूमत नाकाम

वादों पर अमल आवरी से मर्कज़ का गुरेज़: कांग्रेस रुकन राज्य सभा जय राम रमेश

वादों पर अमल आवरी से मर्कज़ का गुरेज़: कांग्रेस रुकन राज्य सभा जय राम रमेश

साबिक़ मर्कज़ी वज़ीर-ओ-कांग्रेस के रुकन राज्य सभा जय राम रमेश ने कहा कि तक़सीम रियासत के वक़्त आंध्र प्रदेश के लिए जो वादे किए गए थे, इस पर अमल आवरी से मर्कज़ी हुकूमत गुरेज़ कर रही है। उन्होंने कहा कि मर्कज़ी हुकूमत की जानिब से तीन माह क़बल ही आंधरा प्रदेश को ख़ुसूसी मौक़िफ़ अता कर दिया जाना चाहिए था, मगर अफ़सोस की बात है कि एन डी ए हुकूमत अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में नाकाम हो गई, जिसकी जितनी मुज़म्मत की जाये कम है।

उन्होंने कहा कि अब तक पोलावर्म अथार्टी क़ायम नहीं की गई, जब कि यू पी ए हुकूमत ने तक़सीम रियासत के बिल में आंध्र प्रदेश के लिए बहुत सारी रियायतें और सहूलतें फ़राहम की थीं, जिन पर अमल आवरी की ज़िम्मेदारी वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और एन डी ए हुकूमत की है।

वाज़िह रहे कि रियासत की तक़सीम में जय राम रमेश ने अहम रोल अदा किया था और वो अरकान राज्य सभा के अलाटमेंट में आंध्र प्रदेश का हिस्सा बन गए हैं। उन्होंने कहा कि बी जे पी अलाहदा तेलंगाना रियासत की तक़सीम में अहम रोल अदा करने का इद्दिआ कर रही है, ताहम तक़सीम के दौरान आंध्र प्रदेश और तेलंगाना को जो सहूलतें फ़राहम की गई थीं, उन पर अमल आवरी में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तेलंगाना अवाम के जज़बात का एहतेराम करते हुए अलाहदा रियासत तशकील दी थी, साथ ही आंध्र प्रदेश की तरक़्क़ी और अवामी फ़लाह-ओ-बहबूद पर ख़ुसूसी तवज्जे दी थी और यू पी ए हुकूमत ने बरसों से ज़ेरे अलतवा मसला हल किया। उन्होंने कहा कि दोनों तेलुगू रियासतों की तरक़्क़ी और उनकी मदद करना मर्कज़ी हुकूमत की ज़िम्मेदारी है, मगर बी जे पी ज़ेरे क़ियादत एन डी ए हुकूमत अपने इक़्तेदार के 100 दिन मुकम्मल होने के बावजूद तेलंगाना बिल के वादों को अमली जामा पहनाने में नाकाम है।

TOPPOPULARRECENT