Monday , May 28 2018

आंध्र प्रदेश में सियासी मुजरमीन का ग़लबा

आंध्र प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले कम अज़ कम 87 अरकान असेंबली और 16 अरकान पार्लीयामेंट के ख़िलाफ़ हिंदुस्तानी ताज़ीरात हिंद के तहत संगीन जराइम या इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख़्लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी के फ़ौजदारी मुक़द्दमात दर्ज हैं।

आंध्र प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले कम अज़ कम 87 अरकान असेंबली और 16 अरकान पार्लीयामेंट के ख़िलाफ़ हिंदुस्तानी ताज़ीरात हिंद के तहत संगीन जराइम या इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख़्लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी के फ़ौजदारी मुक़द्दमात दर्ज हैं।

फ़ोरम बराए गुड गवर्नेंस ने ये इत्तिला देते हुए कहा कि तक़रीबा तमाम जमातों जैसे कांग्रेस, तेलुगु देशम, वाई एस आर पार्टी, टी आर एस, बी जे पी, सी पी आई, लोक सत्ता और मजलिस के अरकान असेंबली मुजरिमाना रेकॉर्ड रखते हैं। बताया गया कि 87 अरकान असेंबली और 16 अरकान पार्लीयामेंट के ख़िलाफ़ बिलतर्तीब 203 और 38 केस दर्ज हैं।

इन में काबिले ज़िकर नाम एन चंद्र बाबू नायडू, टी हरीश राव, अकबर उद्दीन उवैसी, वाई एस विजयम्मां लक्ष्मी, जय प्रकाश नारायण, जी किशन रेड्डी और के टी रामा राव। इन तमाम के ख़िलाफ़ मुजरिमाना केस दर्ज हैं जब कि अकबर उद्दीन उवैसी के ख़िलाफ़ सब से ज़्यादा 17 केस दर्ज हैं।

के सी आर के ख़िलाफ़ 14 मुक़द्दमात ज़ेरे दौरां हैं। जिन 16 अरकान पार्लीयामेंट के ख़िलाफ़ मुक़द्दमात दर्ज हैं उन में सब से ज़्यादा कांग्रेस के दस अरकान के ख़िलाफ़ 16 मुक़द्दमात दर्ज हैं तेलुगु देशम के दो अरकान के ख़िलाफ़ तीन केस, वाई एस आर सी पी अरकान के ख़िलाफ़ भी तीन केस जब कि असद उद्दीन उवैसी के ख़िलाफ़ एक दो केस दर्ज हैं।

TOPPOPULARRECENT