Saturday , December 16 2017

आंध्र हुकूमत मुलाज़िमीन को तनख़्वाह देने के मौक़िफ़ में भी नहीं

मुनक़सिम आंध्र प्रदेश में तशकील दी जाने वाली नई हुकूमत अपने मुलाज़िमीन को पहले माह की तनख़्वाह देने के मौक़िफ़ में नहीं है।

मुनक़सिम आंध्र प्रदेश में तशकील दी जाने वाली नई हुकूमत अपने मुलाज़िमीन को पहले माह की तनख़्वाह देने के मौक़िफ़ में नहीं है।

मुंतख़ब चीफ़ मिनिस्टर आंध्र प्रदेश एन चंद्राबाबू नायडू ने दिल्ली में ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत के दौरान ये बात कही। उन्होंने बताया कि हुकूमत क़र्ज़ा जात की माफ़ी के फ़ैसले पर क़ायम है, लेकिन आमदनी ना होने के सबब सरकारी मुलाज़िमीन की पहले माह की तनख़्वाहें जारी करने के मौक़िफ़ में नहीं है।

नायडू ने बताया कि मुकम्मिल आमदनी जोकि सरकारी मुलाज़िमीन को बतौर तनख़्वाह ईसाल की जाती थी, वो हैदराबाद से होती थी। उन्होंने कहा कि उनकी हुकूमत मर्कज़ से ख़ुसूसी इमदाद हासिल करने की कोशिश में मसरूफ़ है और उन्हें यक़ीन है कि मर्कज़ी इमदाद के ज़रीये मुलाज़िमीन को राहत पहूँचाने के इक़दामात किए जाऐंगे।

नायडू ने तेलंगाना राष़्ट्रा समीती की तरफ से मुलाज़िमीन की तक़सीम के मसले पर वार रुम की तैयारी को बिलवासता तौर पर तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि तक़सीम के लिए पुरअमन माहौल फ़राहम करने की ज़रूरत है नाका जंगी माहौल तैयार किया जाये।

नायडू ने कहा कि इश्तिआल अंगेज़ बयानात के ज़रीये जो सूरते हाल पैदा की जा रही है, वो सेहत मंद जमहूरीयत के लिए दरुस्त नहीं है। उन्होंने के सी आर को मश्वरा दिया कि वो इश्तिआल अंगेज़ी से गुरेज़ करे, चूँकि अब वो कोई तहरीक के क़ाइद नहीं बल्कि एक रियासत के चीफ़ मिनिस्टर होने जा रहे हैं।

एन चंद्राबाबू नायडू ने बताया कि मर्कज़ की तरफ से ख़ुसूसी पैकेजेस के हुसूल के लिए वो कोशां हैं और उन्हें यक़ीन हैके नरेंद्र मोदी की ज़ेरे क़ियादत मर्कज़ी हुकूमत मुल्क की मजमूई तरक़्क़ी के लिए मुनक़सिम आंध्र प्रदेश को भी तरक़्क़ी के मसावी मवाक़े फ़राहम करेगी।

उन्होंने बताया कि मर्कज़ की तरफ से रियासत की तक़सीम के बाद दी जाने वाली इमदाद को आबादी के एतेबार से दो रियासतों के दरमयान तक़सीम किया जाना चाहीए।

चंद्राबाबू नायडू ने बताया कि तेलुगु देशम पार्टी अपने दौरे इक्तदार में आंध्र प्रदेश की तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाने को कोई कसर बाक़ी नहीं रखेगी।

TOPPOPULARRECENT