Wednesday , January 17 2018

आइडिया और वोडाफोन का एकीकरण

मुंबई: आदित्य बिर‌ला समूह की कंपनी आइडिया सेलुलर लिमिटेड के बोर्ड आफ़ डायरेक्टर्ज़ ने आज ब्रिटिश कंपनी वोडाफोन की देसी इकाई वोडाफोन इंडिया लिमिटेड (वी आईएल) और वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड (वी एम एस एल) के साथ एकीकरण को मंजूरी दे दी।

विलय के बाद आइडिया देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी बन जाएगी.आईडिया सेलुलर ने बीएसई को बताया कि नई कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 45.1 प्रतिशत होगी। पहले शेयरों के आवंटन इस तरह किया जाएगा कि नई कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत हो जिसमें वोडाफोन 4.9 प्रतिशत हिस्सेदारी आइडिया के प्रमोटरों के लिए 38.74 अरब रुपये में बिक्री करेगी।

इसके बाद उसकी हिस्सेदारी घटकर 45.1 प्रतिशत रह जाएगी जबकि आदित्य बिरला समूह का हिस्सा 26 प्रतिशत हो जाएगा। समझौते के तहत समूह के पास भविष्य में वोडाफोन का अधिक शेयर खरीदने का अधिकार होगा.कम्पनी ने बताया कि वर्तमान में इस एकीकरण के फैसले को शेयर धारकों, लेनदारों, पूंजी बाजार नियामक (सेबी), शेयर बाजार, इंडियन कमटेटयू आयोग, टेलीफोन संचार विभाग, विदेशी निवेश बोर्ड, रिजर्व बैंक और सरकारी एजेंसियों की मंजूरी मिलना बाकी है और पूरी प्रक्रिया में दो साल का समय लगने की संभावना है।

TOPPOPULARRECENT