Thursday , December 14 2017

आइन्दा दो दहों के दौरान ज़िंदा रोबोटस का वजूद?

वाशिंगटन,०३ जनवरी (एजेसीज़) वाशिंगटन से जारी करदा एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आइन्दा दो दहों के दौरान इंसानी ज़िंदगी ज़िंदा रोबोटस के साथ घुल मिल जाएगी क्योंकि रोबो टैक्नोलोजी ऐसे रोबोटस को तैयार करने की सिम्त गामज़न है, जोकि ना सिर्

वाशिंगटन,०३ जनवरी (एजेसीज़) वाशिंगटन से जारी करदा एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आइन्दा दो दहों के दौरान इंसानी ज़िंदगी ज़िंदा रोबोटस के साथ घुल मिल जाएगी क्योंकि रोबो टैक्नोलोजी ऐसे रोबोटस को तैयार करने की सिम्त गामज़न है, जोकि ना सिर्फ ज़ाहिरी शक्ल में इंसानी शक्ल-ओ-सूरत से मुमासिलत रखेगा बल्कि इंसानी सिफ़ात के क़रीब भी होगा।

हंसँ रोबोटिक के फ़लिप के डग ने एक ऐसा रोबोट तैर किया है जो अलफ़ाज़ के ज़ख़ीरा के इलावा चेहरे के तास्सुरात , हिस्स-ए-मज़ाह और अनानीयत जैसे सिफ़ात का हामिल भी है। इस रोबोट के मुताल्लिक़ इज़हार-ए-ख़्याल करते हुए फ़लिप ने कहा कि ये ज़ाहिरी तौर पर इंसानी शक्ल के हूबहू होने के इलावा इस का बरताव् भी इंसानी बरताव् के मुमासिल होगा ।

फ़लिप ने अपने इस रोबोट के लिए बाल , दाँत और चेहरे की झुर्रियों तक तैयार करने के इलावा भनोवं ( भां)व को चढ़ाने की फ़ित्रत भी इस में शामिल की है। इस प्रोजेक्ट को दुनिया का सब से आरटीफ़ीशल अनटलजनट प्राजैक्ट क़रार दिया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT