Tuesday , December 12 2017

आइन्दा साल ओबामा का दौरा हिंद ताल्लुक़ात में बेहतरी का मौक़ा

अमरीकी सदर बारक ओबामा का आइन्दा साल जनवरी में दौरे हिंदुस्तान बाहमी हिक्मते अमली शराकत और ताल्लुक़ात को मुस्तहकम करने और उन्हें मज़ीद वुसअत अता करने का एक ज़बरदस्त मौक़ा है। बारक ओबामा आइन्दा साल जनवरी 2015 में हिंदुस्तान की यौमे जम्ह

अमरीकी सदर बारक ओबामा का आइन्दा साल जनवरी में दौरे हिंदुस्तान बाहमी हिक्मते अमली शराकत और ताल्लुक़ात को मुस्तहकम करने और उन्हें मज़ीद वुसअत अता करने का एक ज़बरदस्त मौक़ा है। बारक ओबामा आइन्दा साल जनवरी 2015 में हिंदुस्तान की यौमे जम्हूरीया तक़ारीब के मेहमाने ख़ुसूसी होंगे।

अमरीकी इंतेज़ामीया के आला ओहदेदारों और माहिरीन ने इस ख़्याल का इज़हार किया है। क़ौमी सलामती की मुशीर सोजैन राईस ने अपने ट्वीटर पर कहा है कि ये पहला मौक़ा है जब कोई अमरीकी सदर हिंदुस्तान की यौमे जम्हूरीया तक़ारीब में शिरकत करेगा।

ये तक़रीब हिंदुस्तान में दस्तूर की मंज़ूरी के मौक़ा पर होती है। उन्हों ने कहा कि जहां तक अमरीका का सवाल है वो हिंदुस्तान के साथ हिक्मते अमली शराकत को मुस्तहकम करने और उसे मज़ीद वुसअत देने के अह्द का पाबंद है। उन्हों ने कहा कि सदर ओबामा इस दौरे के मुंतज़िर हैं ताकि यौम जम्हूरीया तक़ारीब में शिरकत कर सकें।

ज़राए का कहना है कि ये चोटी मुलाक़ात ओहदेदारों के ख़्याल में दोनों ही क़ाइदीन के लिए एक मौक़ा होगी कि वो दोनों मुल्कों के ताल्लुक़ात खासतौर पर सेक्यूरिटी से मुताल्लिक़ ताल्लुक़ात को मज़ीद मुस्तहकम करें और उन्हें वुसअत देने के इमकानात का जायज़ा लिया जाये।

TOPPOPULARRECENT