Monday , December 18 2017

आइन्दा 8 सालों में सिर्फ़ एक पाक-अफ़्रीक़ा सीरीज़

आई सी सी में बिग थ्री इस्लाहात के बाद फ्यूचर टूरज़ प्रोग्राम के नक्शा से वाज़िह होते जा रहे हैं। हिंदुस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंगलैंड ने ज़्यादा और मुनाफ़ा बख़श सीरीज़ पर क़बज़ा करलिया है लेकिन साथ ही दीगर ममालिक के हिस्से में आने वाली सी

आई सी सी में बिग थ्री इस्लाहात के बाद फ्यूचर टूरज़ प्रोग्राम के नक्शा से वाज़िह होते जा रहे हैं। हिंदुस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंगलैंड ने ज़्यादा और मुनाफ़ा बख़श सीरीज़ पर क़बज़ा करलिया है लेकिन साथ ही दीगर ममालिक के हिस्से में आने वाली सीरीज़ की तफ़सीलात भी मंज़रे आम पर आरही हैं।

पाकिस्तानी टीम आइन्दा 8 सालों में मुम्किना तौर पर 77 टेस्ट मुक़ाबले खेलेगा ताहम इसके हिंदुस्तान के साथ तीन होम सीरीज़ में फी कस दो टेस्ट होंगे। जबकि जवाबी दो सीरीज़ में दोनों टीमें फी कस तीन टेस्ट मुक़ाबले खेलेंगी। पाकिस्तान और जुनूबी अफ़्रीक़ा के दरमयान 3 टेस्ट, 5 वन्डे और 3 टी 20 पर मुश्तमिल एक सीरीज़ दिसम्बर 2018 में होगी।

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान सात मर्तबा मद्द-ए-मुक़ाबिल होंगे। पाँच सीरीज़ की मेज़बानी पाकिस्तान करेगा। दूसरी जानिब जुनूबी अफ़्रीक़ा 2012 ता 2014 दुनिया की नंबर एक टीम रही लेकिन इस दौरान जुनूबी अफ़्रीक़ा को बहुत कम टेस्ट मैचस‌ खेलने को मिले।

उसकी ज़्यादा तर सीरीज़ सिर्फ़ दो टेस्ट मुक़ाबलों पर मुश्तमिल थीं लेकिन अब 2015 से 2023 तक आइन्दा 8 सालों में जुनूबी अफ़्रीक़ा को हिंदुस्तान, इंगलैंड, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और वेस्ट इंडीज़ से घरेलू और बैरूनी बुनियाद पर फी कस 4 मुक़ाबलों पर मुश्तमिल सीरीज़ खेलने का मौक़ा मिल रहा है।

जबकि 2020 में इंगलैंड के ख़िलाफ़ पाँच टेस्ट की सीरीज़ भी खेलेगा। इबतिदाई तौर पर बिग थ्री की मुख़ालिफ़त करने वाले श्रीलंकाई बोर्ड को अपना मौक़िफ़ बदलने का सिला मिलेगा। नए इंतिज़ामात के तहत अगर सब कुछ प्रोग्राम के मुताबिक़ हुआ तो कर्ज़ों में डूबा क्रिकेट श्रीलंकाई बोर्ड मालामाल होजाएगा।

2023 तक उसे हिंदुस्तान, ऑस्ट्रेलिया और जुनूबी अफ़्रीक़ा की मुकम्मल सीरीज़ में दो मर्तबा मेज़बानी करने का मौक़ा मिलेगा। हर सीरीज़ में तीन टेस्ट और तीन वन्डे मुक़ाबले होंगे|

TOPPOPULARRECENT