Tuesday , December 12 2017

आइबी के तर्ज पर होगा बिहार का स्पेशल ब्रांच

बोध गया के महाबोधि मंदिर में दहशतगर्द हमले में हुई सेक्युरिटी चूक के बाद हुकूमत मुहतात हो गयी है। अब हुकूमत ने आइबी के तर्ज पर स्पेशल ब्रांच को मजबूत करने का फैसला लिया गया है। बुध को चीफ़ सेक्रेटरी अशोक कुमार सिन्हा की सदारत में

बोध गया के महाबोधि मंदिर में दहशतगर्द हमले में हुई सेक्युरिटी चूक के बाद हुकूमत मुहतात हो गयी है। अब हुकूमत ने आइबी के तर्ज पर स्पेशल ब्रांच को मजबूत करने का फैसला लिया गया है। बुध को चीफ़ सेक्रेटरी अशोक कुमार सिन्हा की सदारत में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है। बैठक के बाद चीफ़ सेक्रेटरी ने बताया कि स्पेशल ब्रांच को हाइ टेक बनाने का फैसला हुआ है। उसे जदीद तकनीक से लैस किया जायेगा। स्पेशल ब्रांच को हाइ टेक बनाने के लिए जो भी वसायल की जरूरी होगा उसे फराहम कराया जायेगा। स्पेशल ब्रांच को जदीद बनाने के लिए कई रियासतों के मॉडल का मुताला किया गया है। मुताले के बाद दाख्ला महकमा और पुलिस हेड क्वार्टर ने ब्लू प्रिंट तैयार किया था, जिसे मंजूरी दी गयी है।

बनेगा अलग कैडर

उन्होंने बताया कि स्पेशल ब्रांच को अफसर ओरियेंटेड बनाया जायेगा। इसमें बिहार पुलिस एसपी सतह के अफसर से नीचे के नहीं रहेंगे। नीचे के अफसरों की तकर्रुरी के लिए अलग से कैडर बनेगा। दाख्ला महकमा को हिदायत दिया गया है कि स्पेशल ब्रांच के लिए कितने अफसरों की जरूरत है उसका अंदाज़ा कर तजवीज करें तथा उसे इंतेजामिया ओहदे तबके कमेटी में लायें। जब तक नये अफसरों की तकर्रुरी नहीं हो जायेगी तब तक पुरानी निज़ाम ही लागू रहेगी। महाबोधि मंदिर पर हुए दहशतगर्द हमले के बाद चीफ़ सेक्रेटरी की कियादत में अफसरों की टीम ने बोध गया का दौरा कर सेक्युरिटी निज़ाम का जायजा लिया था। हुकूमत ने माना था कि आइबी की रिपोर्ट के बाद हुई चुक को हुकूमत ने संजीदगी से लेते हुए सेक्युरिटी निज़ाम में बड़ा तब्दीली करने का फैसला लिया था। उस वक्त यह भी फैसला लिया गया था कि स्पेशल ब्रांच को मजबूत किया जायेगा। बैठक में चीफ़ सेक्रेटरी अशोक कुमार सिन्हा के अलावा दाख्ला महकमा के प्रिन्सिपल सेक्रेटरी आमिर सुबहानी, डीजीपी अभयानंद, स्पेशल ब्रांच के एडीजी राजेश चंद्रा समेत कई अफसर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT