Saturday , December 16 2017

आईआईटी रूडकी ने कम नंबर आने पर 73 स्टूडेंट्स को निकाला

नई दिल्ली। बीटेक प्रोग्राम में कम स्कोर के सबब इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रू़डकी ने 73 स्टूडेंट्स को निकाल दिया है। दरअसल इन स्टूडेंट्स ने 5 सीजीपीए यानी कम्यूलेटिव ग्रेड प्वॉइंट एवरेज से कम स्कोर किया था।

बुध के रोज़ हुई बैठक में मर्सी अपील पर सुनवाई के दौरान यह फैसला लिया गया। आपको बता दें कि ऐसा पहली बार हो रहा है जब आईआईटी से स्टूडेंट्स को निकाला गया है। इससे पहले आईआईटी खडगपुर के साबिक डायरेक्टर ने भी 15-20 स्टूडेंट्स को खराब परफार्मेंस के लिए इंस्टीट्यूट से निकाल दिया था।

लेकिन उसके बाद फैसले को वापस लेते हुए उन स्टूडेंट्स का दोबारा दाखिला कर दिया गया। जुमेरात के रोज़ स्टूडेंट्स की मर्सी अपील को लेकर एक बैठक भी की गई। बैठक में 160 सीनियर प्रोफेसर, डिपार्टमेंट्स हेड और डायरेक्टर शामिल हुए।

ज़राये की मानें तो स्टूडेंट्स को निकालने का फैसला मई में मुनाकिद किए गए सेकेंड सेमेस्टर एग्जाम के बाद ही ले लिया गया था। एग्जाम में कम स्कोर आने के बाद कॉलेज इंतेज़ामिया ने स्टूडेंट्स के साथ एक बैठक भी की।

काउंसलिंग सेशन के वक्त कई स्टूडेंट्स का कहना है कि एकेडमिक वर्क का दवाब काफी ज्यादा है, वहीं कुछ स्टूडेंट्स ने पहले सेमेस्टर में पढाई पर ज्यादा ध्यान न देने की बात भी कही। इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर ने कहा कि यह पहले से ही तय था। जिसकी बुनियाद पर स्टूडेंट्स को नोटिस दिया गया था।

उन्होंने कहा कि यह फैसला स्टूडेंट्स की भलाई के लिए ही किया गया है, क्योंकि आने वाले सालों में अच्छा नहीं कर पाने पर इनके लिए कोई मौका नहीं बचता। आपको बता दें कि एडमिशन के वक्त इन स्टूडेंट्स के पैरेंट्स ने एक ऐलानिया खत पर भी दस्तखत किए थे कि खराब परफार्मेंस की वजह से स्टूडेंट्स को इंस्टीट्यूट्स से निकाला भी जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT