आईएमएफ, विश्व बैंक के ज्यादातर विकास अनुमान गलत : प्रधानमंत्री पैनल सदस्य

आईएमएफ, विश्व बैंक के ज्यादातर विकास अनुमान गलत : प्रधानमंत्री पैनल सदस्य
Click for full image

नई दिल्ली: आईएमएफ और विश्व बैंक के अनुमानों पर सवाल उठाते हुए, प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य राथिन रॉय ने बुधवार को कहा कि वैश्विक एजेंसियों को आम तौर पर उनके अनुमान “गलत” मिलते हैं।

रॉय ने कहा, “आईएमएफ के विकास अनुमान 80% गलत हैं वहीँ विश्व बैंक के विकास अनुमान 65% गलत हैं।”

इसके विपरीत, अर्थशास्त्री, जिसने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के साथ लंबे समय तक कार्य किया था, ने कहा कि सरकार के अनुमान सही समय के 90% से अधिक थे क्योंकि केवल कुछ संशोधन किए जाते हैं।

मंगलवार को आईएमएफ ने 2017 तक 6.7% के लिए भारत का विकास पूर्वानुमान 7.2% पहले घटाया था। विश्व बैंक ने अनुमान लगाया है कि अर्थव्यवस्था का विस्तार 7% तक होगा, जो कि पहले के अनुमानित 7.2% की तुलना में है।

आईएमएफ के अनुमानों ने आरबीआई के अनुमान के मुताबिक अनुमान लगाया है कि अर्थव्यवस्था इस वित्तीय वर्ष (2017-18) के मुकाबले 6.7% धीमा हो जाएगी, जो कि पहले के 7.3% पूर्वानुमान से पहले थी। वित्त मंत्रालय ने यह भी स्वीकार किया है कि विकास 6.75-7.5% के अनुमान के निचले अंत के करीब हो सकता है।

रॉय ने कहा कि परिषद मंदी के कारणों की जांच करेगी, जिसे उन्होंने कहा था कि वह कई कारकों के कारण हो सकता है। उसी समय, उन्होंने कहा कि आईएमएफ और विश्व बैंक की पसंद के मुकाबले सबसे अधिक विकास दर 8% तक पहुंचने की उम्मीद है।

अप्रैल-जून के दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि 5.7% की तीन साल की निम्नतम स्तर पर आ गई, साथ ही सरकार मंदी के लिए जीएसटी रोलआउट से पहले फटाफट करने का आरोप लगा रही है। अर्थशास्त्री और साथ ही आरबीआई ने भी नोटबंदी के एक हिस्से के लिए ज़िम्मेदार ठेराया है।

Top Stories