Monday , August 20 2018

आईएसआई ने दाऊद को दी मोदी की सुपारी

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने एक बार फिर अपने पुराने मोहरे और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को खास काम सौंपा है। इंटेलिजेंस एजेंसियों के इनपुट्स के मुताबिक, आईएसआई ने बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के कत्ल का कॉन्

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने एक बार फिर अपने पुराने मोहरे और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को खास काम सौंपा है। इंटेलिजेंस एजेंसियों के इनपुट्स के मुताबिक, आईएसआई ने बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के कत्ल का कॉन्ट्रैक्ट दाऊद इब्राहिम को दिया है। मोदी पहले से ही कई दहशतगर्द तंज़ीमों के निशाने पर हैं। पटना में मोदी की रैली में गांधी मैदान में सीरियल ब्लास्ट हुए थे। इसमें इंडियन मुजाहिदीन से जुड़े कुछ मुश्तबा को गिरफ्तार किया गया है। इंटेलिजेंस ब्यूरो ने दिल्ली, राजस्थान, एमपी और उत्तर प्रदेश में मोदी पर हमले के इम्कान का अलर्ट जारी किया है।

इंटेलिजेंस एजेंसियों के सीक्रेट नोट में कहा गया है कि मोदी को खत्म करने के लिए आईएसआई दाऊद इब्राहिम की मदद ले रही है। इनपुट में कहा गया है, ‘हाल ही में दाऊद की आईएसआई के सीनियर ओहदेदारान के साथ मीटिंग हुई है। इस मीटिंग में आईएसआई के ओहदेदारों ने दाऊद को हिंदुस्तान में फिर से सरगर्म होने और मोदी को निशाना बनाने के लिए कहा है।’ ज़राये का कहना है कि यह अलर्ट 27 अक्तूबर को मोदी की रैली में धमाकों के बाद भेजा गया है।

एक अंग्रेजी अखबार में शाय हुई रिपोर्ट के मुताबिक, इंटेलिजेंस नोट में यह भी कहा गया है कि मोदी को सिर्फ हिंदुस्तान में ऑपरेट कर रहे दहशतगर्द तंज़ीमों से खतरा नहीं है। पाकिस्तान की आईएसआई के इलावा सऊदी अरब से ऑपरेट कर रहे टेरर ऑपरेटिव्स भी उनकी जान के दुश्मन हैं। नोट में कहा गया है, ‘सऊदी अरब में काम कर रहे बुनियाद परस्त इस्लामी तंज़ीम भी मोदी पर हमले की साजिश रच रहे हैं।’ सऊदी अरब से ऑपरेट करने वाले शाहिद उर्फ बिलाल का जिक्र नोट में है। शाहिद ने अपने एक साथी से कहा है कि रिमोट कंट्रोल से धमाका करने के बजाय सूइसाइड अटैक ज्यादा कारगर होगा।

नोट में यह इम्कान भी जताया गया है कि मुल्क के कुछ सिक्यॉरिटी आफीसर भी दहशतगर्द तंज़ीमो की मदद कर सकते हैं। लश्कर-ए-तैयबा इस सिम्त में कोशिश कर रहा है। इंटेलिजेंस इनपुट्स की स्टडी के बाद यह बात सामने आई है कि ममनूआ तंज़ीम सिमी दूसरे तंज़ीमों से कॉर्डिनेट कर रहा है और मोदी पर हमले के लिए इन तंज़ीमो से मदद मांग रहा है। सिमी के लोग लश्कर, हरकर-उल-जिहाद अल-इस्लामी और जैश-ए-मोहम्मद के राबिते में हैं। हाल में पकड़े गए सिमी के कारकुनो से पता चला है कि यह दहशतगर्द तंज़ीम सूइसाइड विंग के लिए शाहीन के नाम से ट्रेनिंग कैंप भी चला रहा है।

नोट में कहा गया है कि मोदी को मुल्क के अंदर माओवादियों से भी खतरा है। दहशतगर्द तंज़ीम मोदी पर हमले के लिए कई तरीके पर काम कर रहे हैं। लॉन्चर्स से मोदी के काफिले पर हमला या फिर धमाकाखेज मवाद से भरी गाड़ी को उनकी गाड़ी से टकराने का इम्कान है। इसके इलावा मोदी पर सूइसाइड अटैक भी आप्शन में शामिल है।

TOPPOPULARRECENT