Tuesday , January 23 2018

आई ए ई ए में ईरान के ख़िलाफ़ क़रारदाद मंज़ूर

वयाना २० नवंबर ( यू एन आई ) : अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की न्यूक्लियर तवानाई एजैंसी ने एक क़रारदाद मंज़ूर की है जिस में ईरान की न्यूकलीयाई सरगर्मीयों पर गहिरी तशवीश ज़ाहिर की गई है ।

वयाना २० नवंबर ( यू एन आई ) : अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की न्यूक्लियर तवानाई एजैंसी ने एक क़रारदाद मंज़ूर की है जिस में ईरान की न्यूकलीयाई सरगर्मीयों पर गहिरी तशवीश ज़ाहिर की गई है ।

आई ए ई ए के 35 रुकनी बोर्ड ने जुमा को होने वाले इजलास में मज़कूरा क़रारदाद की मंज़ूरी दी जिसे सलामती कौंसल के पाँच मुस्तक़िल अराकीन अमरीका , बर्तानिया , फ़्रांस , रूस और चीन और जर्मनी ने मुशतर्का तौर पर पेश किया था ।

याद रहे कि आई ए ई ए ने गुज़शता हफ़्ते जारी करदा अपनी एक रिपोर्ट में काबिल-ए-एतिमाद शहादतों के हवाले से दावा किया था कि ईरान न्यूक्लियर , हथियार बनाने की कोशिश कररहा है । चीन और रूस ने आलमी एजैंसी की रिपोर्ट पर तहफ़्फुज़ात ज़ाहिर किए थे जिस के बाइस उन की ख़ाहिश पर क़रारदाद में ईरान के ख़िलाफ़ नरम ज़बान इस्तिमाल की गई है ।

क़रारदाद में ना तो ईरान का मुआमला सलामती कौंसल को भेजवाने का इंदीया दिया गया है और ना ही आई ए ई ए की जानिब से मज़ीद तफ़सीलात फ़राहम करने की दरख़ास्त पर अमल के लिए ईरान को कोई मोहलत दी गई है ।

बोर्ड के अराकीन में से सिर्फ क्यूबा और इक्वाडोर ने क़रारदाद की मुख़ालिफ़त में वोट दिया जब कि इंडोनेशिया ने राय शुमारी में हिस्सा नहीं लिया ।

TOPPOPULARRECENT