आई ए ऐस , आई पी उस की 3400 जायदादें मख़लवा

आई ए ऐस , आई पी उस की 3400 जायदादें मख़लवा
ऑल इंडिया सरवेस मैं 3400 जायदादें ख़ाली रहने पर तशवीश ज़ाहिर करते हुए मर्कज़ी हुकूमत ने सियोल सरवेस इमतिहानात के ज़रीया मुंतख़ब होने वाले ओहदेदारों को नई पोस्टिंग देने के इलावा मुख़्तलिफ़ इख़्तयारात पर ग़ौर करना शुरू किया है। हुकूमत आई ए

ऑल इंडिया सरवेस मैं 3400 जायदादें ख़ाली रहने पर तशवीश ज़ाहिर करते हुए मर्कज़ी हुकूमत ने सियोल सरवेस इमतिहानात के ज़रीया मुंतख़ब होने वाले ओहदेदारों को नई पोस्टिंग देने के इलावा मुख़्तलिफ़ इख़्तयारात पर ग़ौर करना शुरू किया है। हुकूमत आई ए ऐस , आई पी ऐस और आई एफ़ ओ ऐस में मख़लवा 3400 जायदादों को मुकम्मल करने की कोशिश कररही है।

वज़ारत पर्सोनल अवामी शिकायात और पैंशनस के ज़राए ने बताया कि हुकूमत ने रियास्तों और मर्कज़ में कैडर पर कंट्रोल करने वाले हुक्काम के साथ मुशावरत करते हुए मख़लवा जायदादों का जायज़ा लेना शुरू किया है। इस सिलसिला में बहुत जल्द एक इजलास मुनाक़िद होगा, जिस में इंडियन एडमनसटरीटीव सरवेस (आई ए ऐस) इंडियन पुलिस सरवेस (आई पी ऐस) और इंडियन फ़ारीस सरवेस (आई एफ़ ओ ऐस) में 3408 ख़ाली जायदादों को पर करने की राहें तलाश की जाएंगी।

Top Stories