Sunday , December 17 2017

आई सी सी ने ‘मरमरा’ पर इसराईली हमला जंगी जुर्म क़रार दिया

तुर्की के इमदादी इदारा आई एच एच ने एक ब्यान में कहा है कि आलमी फ़ौजदारी अदालत (आई सी सी) ने 2010 में फ़लस्तीनी इलाक़ा ग़ज़ा पट्टी का मुहासिरा तोड़ने के लिए रवाना होने वाले तुर्क इमदादी बहरी जहाज़ मरमरा पर इसराईल का जंगी जुर्म क़रार दिया है।

तुर्की के इमदादी इदारा आई एच एच ने एक ब्यान में कहा है कि आलमी फ़ौजदारी अदालत (आई सी सी) ने 2010 में फ़लस्तीनी इलाक़ा ग़ज़ा पट्टी का मुहासिरा तोड़ने के लिए रवाना होने वाले तुर्क इमदादी बहरी जहाज़ मरमरा पर इसराईल का जंगी जुर्म क़रार दिया है।

तुर्क इमदादी इदारा की जानिब से कल इस के इस्तांबूल में क़ायम हेडक्वार्टर से जारी एक ब्यान में कहा गया है कि आलमी अदालत इंसाफ़ के प्रॉसिक्यूटर जेनरल ने मरमरा पर खुले समुंद्र में सीहूनी फ़ौज के हमले के शवाहिद देखने के बाद कहा है कि ये केस जंगी जराइम के ज़ुमरे में आता है।

मई 2010 में फ़लस्तीन के महसूर इलाक़े ग़ज़ा पट्टी का मुहासिरा तोड़ने के लिए बहरी रास्ते से दर्जनों बहरी जहाज़ों का एक क़ाफ़िला तुर्क जहाज़ मरमरा की क़ियादत में खुले समुंद्र में ग़ज़ा की जानिब रवां दवां था कि उस दौरान सीहूनी बहरीया ने क़ाफ़िले पर हमला कर दिया।

TOPPOPULARRECENT