Monday , September 24 2018

आखिरी ओवर में बांग्लादेश ने रोमांचक भरे मैच में श्रीलंका को हरा किया फाइनल में प्रवेश

बांग्लादेश और मेजबान श्रीलंका के बीच निदहास टी-20 ट्राई सीरीज के छठे मुकाबले के आखिरी ओवरों में काफी ड्रामा देखा गया. दोनों टीमों के खिलाड़ी तैश में आ गए और लगा कि मैच पूरा नहीं होगा. हालांकि मैच हुआ और बांग्लादेश ने इस रोमांचक मैच में श्रीलंका को हरा दिया.

160 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही बांग्लादेश टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए 12 रन की जरूरत थी. यही समय था जब सारा ड्रामा शुरू हुआ. श्रीलंका की ओर से इशुरु उडाना के इस ओवर में पहले दो गेंदों बांग्लादेश के बल्लेबाज कोई रन नहीं बना सके. वहीं 2 बाउंसर और दूसरे बॉल पर रन आउट के रूप में विकेट गिरने से बांग्लादेश कप्तान शाकिब-अल-हसन नाराज हो गए.

शाकिब ने मैच रुकवा दिया और अपनी टीम को वापस बुलाने की कोशिश की. शाकिब को लगा कि अंपायर ने दूसरे बॉल पर नोबॉल का इशारा किया है. मामला सुलझने पर मैच शुरू होने के बाद बांग्लादेश के मोहम्मदुल्लाह ने शानदार बल्लेबाजी की.

बांग्लादेशी बल्लेबाज ने तीसरे बॉल पर चौका लगाया, फिर 2 रन लिए और आखिरी ओवर के 5वें बॉल पर छक्का मारकर मैच जीत लिया. मैच खत्म होने पर शाकिब ने कहा कि कभी कभी इमोशन आप पर हावी हो जाते हैं, हालांकि उन्हें कप्तान रहते हुए इस पर ध्यान देना चाहिए.

कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 159 रन बनाए और बांग्लादेश के सामने जीत के लिए 160 रनों का टारगेट रखा. कुसल परेरा ने 61 और तिसारा परेरा ने 58 रन की पारी खेली.

मैच में हुए विवाद पर तमीम ने कहा कि यह काफी इमोशनल मैच था. उनके अनुसार उन लोगों ने अंपायर को नो बॉल इशारा देते हुए देखा था. इसलिए उन्होंने शिकायत की. इसी वजह से इतना ड्रामा हुआ. हालांकि गलती मानते हुए तमीम इकबाल ने कहा कि उनलोगों को सही व्यवहार करना चाहिए था. हालांकि अब विवाद खत्म हो चुका है.

इससे पहले तमीम इकबाल के पचास रन की पारी से बांग्लादेश को मजबूत शुरुआत मिली. उसके बाद मोहम्मदुल्लाह ने नाबाद 43 रन बनाकर टीम को जीत दिला दी.

बांग्लादेश ने चुनी पहले गेंदबाजी

इससे पहले बांग्लादेश के कप्तान शाकिब-अल-हसन ने श्रीलंका के खिलाफ टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया और मेजबान टीम को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. शाकिब चोट के कारण पिछले मैचों में नहीं खेल सके थे, लेकिन इस मैच में उन्होंने कप्तान के तौर पर वापसी की.

बांग्लादेश के लिए एक अच्छी बात यह है कि उसके नियमित कप्तान और ऑलराउंडर शाकिब अल हसन चोट के बाद वापसी कर रहे हैं. शाकिब इस सीरीज के पहले तीन मैचों में टीम में नहीं थे, लेकिन गुरुवार को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने इस बात की जानकारी दी है कि शाकिब चोट से ठीक होकर इस मैच में टीम की कप्तानी करेंगे.

इसके अलावा बांग्लादेश को इस मैच में एक तरह से मानसिक बढ़त हासिल होगी. इस सीरीज में इन दोनों टीमों के बीच हुए पिछले मैच में बांग्लादेश ने रिकॉर्ड जीत हासिल की थी.

श्रीलंका ने उस मैच में बांग्लादेश के सामने 215 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे बांग्लादेश ने मुशफिकुर रहीम की 35 गेंदों में पांच चौके और चार छक्कों की मदद से खेली गई नाबाद पारी में के दम पर हासिल कर लिया था.

इस मैच में शाकिब के आने से टीम को गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में मजबूती मिलेगी, लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि वह किस की जगह मैदान पर उतरते हैं.

इन दोनों के अलावा बल्लेबाजी में दारोमदार तमीम इकबाल, मुश्फिकुर रहीम और महमुदुल्लाह पर होगा. गेंदबाजी में मुस्ताफिजुर रहमान, रुबेल हुसैन पर श्रीलंकाई बल्लेबाजों को रोकने की बड़ी जिम्मेदारी है.

बात की जाए तो बल्लेबाजी कुसल मेंडिस, कुसल परेरा और कप्तान दिनेश चांडीमल के इर्द-गिर्द घूमती है. बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए मैच में परेरा ने 48 गेंदों में आठ चौके और दो छक्कों की मदद से 74 रनों की पारी खेली थी. मेंडिस ने भी उस मैच में 57 रन बनाए थे.

श्रीलंका को दिनेश चांडीमल की कमी भी खलेगी जिन्हें दो टी-20 मैचों से निलंबित कर दिया गया है. गेंदबाजी श्रीलंका की कमजोर कड़ी रही है हालांकि स्पिनर अकिला धनंजय ने प्रभावित किया है, लेकिन दूसरे छोर से उन्हें निरंतर समर्थन नहीं मिला रहा है.

TOPPOPULARRECENT