आगरा में दलित युवक की मौत के बाद सांप्रदायिक तनाव, ईदगाह मैदान में आगजनी और तोड़फोड़

आगरा में दलित युवक की मौत के बाद सांप्रदायिक तनाव, ईदगाह मैदान में आगजनी और तोड़फोड़
Click for full image

आगरा: आगरा शहर के नामनेर में मोहनपुरा का रहने वाला जूता कारीगर सोनू नामनेर के देसी शराब के ठेके पर शराब पीने गया था. वहां पर ईदगाह के कुछ युवक पहले से खड़े थी. तभी सोनू की हालत अचानक बिगड़ी. बताया जाता है कि उसे मिर्गी की बीमारी थी जिस से सोमवार रात करीब साढ़े सात बजे दलित युवक सोनू (25) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई. अफवाह यह फैली कि उसे दूसरे समुदाय के लोगों ने पीट पीट कर मार डाला है. इसके चलते गुस्से में आए 30-40 युवकों ने पहले ठेके पर पथराव किया, इसके बाद ईदगाह मैदान में आगजनी और तोड़फोड़ कर डाली. दो दुकानें आग के हवाले कर दी गईं.
यहां शाही मस्जिद मैदान में स्थित मुर्गा मंडी में पथराव किया. युनुस के टैंट हाउस और हाफिज खुर्शीद के हलाल चिकन व फिशर हाउस में आग लगा दी. पास खड़ी आसिफ की स्विफ्ट, इरफान की सेंट्रो, युनुस की दो बाइकों में तोड़फोड़ की.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

प्रदेश 18 के अनुसार, मोहनपुरा का रहने वाला जूता कारीगर सोनू नामनेर के देसी शराब के ठेके पर शराब पीने के लिए गया था. शराब के ठेके पर ही सोनू (25) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई. इसी दौरान अफवाह फैल गई. इस पर 30-40 युवक इकट्ठा होकर ईदगाह मैदान पहुंच गए. यहां शाही मस्जिद मैदान में स्थित मुर्गा मंडी में पथराव किया. युनुस के टैंट हाउस और हाफिज खुर्शीद के हलाल चिकन व फिशर हाउस में आग लगा दी.इस के अलावा पास खड़ी आसिफ की स्विफ्ट, इरफान की सेंट्रो, युनुस की दो बाइकों में तोड़फोड़ की. अंसार की वैन में आग लगा दी. पूरे इलाके में तनाव फैल गया.

एसएसपी डा. प्रीतिंदर सिंह के अनुसार, सोनू की मौत मिर्गी का दौरा पड़ने से हुई है. कुछ लोगों ने अफवाह फैलाकर बवाल किया है. उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. तनाव के मद्दे नज़र पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात कर दी गई.
नामनेर से ईदगाह तक कई दुकानों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. सीसीटीवी कैमरे की मदद से बलवाइयों की पहचान के लिए पुलिस इनकी फुटेज निकलवा रही है. रात में ही खुफिया पुलिस की टीम भी ईदगाह में लगाये जाने की खबर है. पुलिस का कहना है कि इस मामले में बलवाइयों पर रासुका के तहत भी कार्रवाई की जाएगी.
उल्लेखनीय है कि इस मामले से पहले भी यहाँ बवाल हो चुके हैं.

Top Stories