आगरा में बैरूनी सय्याहों की आमद में कमी, हुकूमत का एतराफ़

आगरा में बैरूनी सय्याहों की आमद में कमी, हुकूमत का एतराफ़

नई दिल्ली 17 मार्च: पिछ्ले चंद साल के दौरान ताज महल को देखने वाले बैरूनी सय्याहों की तादाद मुसलसिल घटति जा रही है। गे कि हुकूमत मुल्क भर में सयाहत दोस्त माहौल बनाने के लिए मुख़्तलिफ़ इक़दामात कर रही है।

वज़ीर सयाहत महेश शर्मा ने राज्य सभा में बताया कि साल 2012 में 7.43 बैरूनी सय्याहों ने ताज-महल का देखे था लेकिन उनकी तादाद घटते हुए साल 2013 में 6.95 लाख और साल 2014 में 8.48 लाख तक पहुंच गई। उन्होंने बताया कि बैरूनी सय्याहों की नक़ल-ओ-हरकत पर अंदरूने मुल्क महंगा सफ़र, क़ियाम-ओ-तआम की ख़ातिर-ख़्वाह सहूलयात मौजूद ना होने से ताज-महल आगरा का दौरा करने में रुकावट पैदा हो रही है।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि बैरूनी सय्याहों की सलामती को यक़ीनी बनाने के लिए हमा लिसानी टेलीफ़ोन हेल्प् लाईन भी क़ायम की है जबकि चीफ़ मिनिस्टर उत्तरप्रदेश और यूटी एडमिनिस्ट्रेटर को हिदायत दी है कि बैरूनी सय्याहों के लिए बेहतर माहौल क़ायम करने के लिए इक़दामात किए जाएं।

Top Stories