Tuesday , September 25 2018

आज़मीने हज्ज के कोटा में इज़ाफ़ा

मर्कज़ी वज़ारत-ए-ख़ारजा की तरफ से नई दिल्ली में मुनाक़िदा 30 वीं सालाना ऑल इंडिया क़ौमी हज कांफ्रेंस में हिंदुस्तान के हज कोटा में इज़ाफ़ा और हुज्जाज किराम को सहूलतों की फ़राहमी के बारे में मुख़्तलिफ़ गोशों से मर्कज़ी हुकूमत को नुमाइंदगी

मर्कज़ी वज़ारत-ए-ख़ारजा की तरफ से नई दिल्ली में मुनाक़िदा 30 वीं सालाना ऑल इंडिया क़ौमी हज कांफ्रेंस में हिंदुस्तान के हज कोटा में इज़ाफ़ा और हुज्जाज किराम को सहूलतों की फ़राहमी के बारे में मुख़्तलिफ़ गोशों से मर्कज़ी हुकूमत को नुमाइंदगी की गई।

इस कांफ्रेंस में मुख़्तलिफ़ रियासतों की हज कमेटी के सदर, एग्जीक्यूटिव ऑफीसरस, मुस्लिम अरकाने पार्लियामेंट और सेंट्रल हज कमेटी के अराकीन-ओ-ओहदेदारों ने शिरकत की।

मर्कज़ी वज़ीर-ए-ख़ारजा सुषमा स्वराज ने मेहमान ख़ुसूसी की हैसियत से शिरकत की। आंध्र प्रदेश हज कमेटी की तरफ से स्पेशल ऑफीसर प्रोफेसर एसए शकूर और एग्जीक्यूटिव ऑफीसर एम ए हमीद ने मीटिंग में शिरकत की और आंध्र प्रदेश के आज़मीने हज्ज के कोटा में इज़ाफ़ा और मक्का मुकर्रमा की हैदराबादी रुबात में क़ियाम से मुताल्लिक़ तनाज़ा की जल्द यकसूई की दरख़ास्त की।

मुस्लिम अरकाने पार्लियामेंट में तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले दो अरकाने पार्लियामेंट ने शिरकत की। सदर नशीन सेंट्रल हज कमेटी क़ैसर शमीम चीफ़ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर अता उलरहमन, सऊदी अरब में हिंदुस्तानी सफ़ीर हामिद अली, कौंसिल जनरल जेद्दाह इन मुबारक, कौंसिल हज जेद्दाह नूर मुहम्मद के अलावा वज़ारत-ए-ख़ारजा के सेक्रेटरी-ओ-दुसरे ओहदेदार भी कांफ्रेंस में शरीक रहे।

कांफ्रेंस में तमाम हज कमेटीयों को इत्तेला दी गई कि हज 2014 में हुज्जाज किराम के लिए मदीना मुनव्वरा में क़ियाम के दौरान ताम का इंतेज़ाम किया जाएगा। इस से पहले हुज्जाज किराम को होटलों में पकवान की इजाज़त दी गई थी।

ओहदेदारों ने बताया कि एक वक़्त का खाना 7.5 रयाल में फ़राहम किया जाएगा और ये रक़म हुज्जाज किराम को दी जाने वाली 2100 रयाल में से क‌म की जाएगी।

सदर नशीन सेंट्रल हज कमेटी क़ैसर शमीम ने हकूमते हिन्द से दरख़ास्त की के आज़मीने हज्ज के कोटा में इज़ाफ़ा किया जाये । पिछ्ले साल आज़मीने हज्ज का कोटा एक लाख 21000 था जो जारीया साल घट एक लाख 20000 होचुका है।

उन्होंने तजवीज़ पेश की के ख़ानगी टूर आपरेटर्स के कोटा में कमी करते हुए हज कमेटी को ज़ाइद नशिस्तें अलॉट की जाएं। सदर नशीन हज कमेटी ने कमेटी की मीयाद तीन साल से बढ़ाकर पाँच साल करने की तजवीज़ पेश की।

इस मौके पर 10 ज़बानों में शाय करदा हज गाईड की रस्म इजरा अंजाम दी गई । स्पेशल ऑफीसर आंध्र प्रदेश हज कमेटी प्रोफेसर एसए शकूर ने हैदराबादी रुबात में क़ियाम के तनाज़ा की जल्द यकसूई की ख़ाहिश की।

उन्होंने तजवीज़ पेश की के हुज्जाज किराम को वापसी पर सऊदी एयरलाइन्स की तरफ से ज़मज़म सरबराह किया जाता है। ताहम जारीया साल से हज कमेटी को उसकी ज़िम्मेदारी दी जाएगी।

उन्होंने आज़मीने हज्ज के लिए एयरपोर्ट पर यूज़र डेवलपमेंट चार्जस की वसूली ख़त्म करने की तजवीज़ पेश की। उन्होंने कहा कि पिछ्ले साल रियासती हुकूमत ने 50 फ़ीसद रियायत देने का एलान किया था ताहम अभी तक बजट जारी नहीं किया गया।

उन्होंने ख़ादिम उलहजाज का इंतिख़ाब ऑनलाईन करने की भी तजवीज़ पेश की। प्रोफेसर एस शकूर ने आंध्र प्रदेश हज कमेटी के कोटा में इज़ाफे की ख़ाहिश करते हुए कहा कि दो महफ़ूज़ ज़मरों के तहत 1500 नशिस्तें पर होचुकी हैं लिहाज़ा आम ज़मुरा में ज़्यादा आज़मीन का इंतिख़ाब नहीं किया जा सका।

उन्होंने 2011 मर्दुमशुमारी के हिसाब से रियासतों को कोटा मुक़र्रर करने का मुतालिबा किया गया। रुकने पार्लियामेंट एम ए ख़ान ने ख़ानगी टूर ऑप्रेटर के कोटा में कमी की तजवीज़ पेश करते हुए कहा कि ख़ानगी आपरेटर्स भारी रक़ूमात वसूल कर रहे हैं जबकि हज कमेटी से रियायती शरह पर हज की सआदत हासिल की जा सकती है।

उन्होंने यूज़र्स डेवलपमेंट चार्जस से आज़मीने हज्ज को मुस्तसना करने का मुतालिबा किया। कांफ्रेंस के दौरान बाज़ मंदूबीन ने हज कमेटी की तरफ से उमरा के इंतेज़ामात की भी तजवीज़ पेश की ताके कम ख़र्च में मुस्लमान इस सआदत से इस्तेफ़ादा करसकें।

TOPPOPULARRECENT