आज़मीने हज्ज को यूज़र चार्जस के बोझ से नजात

आज़मीने हज्ज को यूज़र चार्जस के बोझ से नजात
हज 2014 के लिए हज कमेटी से रवाना होने वाले आज़मीने हज्ज को एयरपोर्ट पर यूज़र चार्जस अदा करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

हज 2014 के लिए हज कमेटी से रवाना होने वाले आज़मीने हज्ज को एयरपोर्ट पर यूज़र चार्जस अदा करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

सेंट्रल हज कमेटी से मुशावरत के ज़रीये वज़ारत-ए-ख़ारजा ने ये फ़ैसला किया है। स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एस ए शकूर ने बताया कि मुल्क के किसी भी एयरपोर्ट पर हज कमेटी के ज़रीये रवाना होने वाले आज़मीने हज्ज से यूज़र चार्जस वसूल नहीं किए जाऐंगे।

इस तरह आज़मीने हज्ज को यूज़र चार्जस के बोझ से नजात मिली है। इसी दौरान प्रोफेसर एसए शकूर ने डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर महमूद अली से ख़ाहिश की के पिछ्ले साल के यूज़र चार्जस से मुताल्लिक़ बक़ायाजात फ़ौरी जारी किए जाएं।

किरण कुमार रेड्डी हुकूमत ने यूज़र चार्जस में 50 फ़ीसद हुकूमत की तरफ से अदा करने का एलान किया था और इस सिलसिले में 74 लाख रुपये मंज़ूर किए गए ताहम महिकमा फाइनैंस की तरफ से रक़म की इजराई बाक़ी है।

उन्होंने कहा कि अगर हुकूमत ये रक़म जारी करदे तो पिछ्ले साल के हुज्जाज किराम को 50 फ़ीसद यूज़र चार्जस की रक़म वापिस की जाएगी। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर ने इस सिलसिले में ज़रूरी कार्रवाई का यकीन दिया।

आज़मीने हज्ज के लिए मदीना मुनव्वरा में क़ियाम के दौरान हज कमेटी की तरफ से ताम का इंतेज़ाम किया गया है। ये पहला मौक़ा है जब आज़मीने हज्ज से ज़ाइद रक़म की वसूली के बगै़र मदीना मुनव्वरा में खाने का इंतेज़ाम किया जा रहा है।

बताया जाता हैके ताम के इंतेज़ाम के सिलसिले में मदीना मुनव्वरा के नामवर केटरिंग कंपनी की ख़िदमात हासिल की जा रही हैं। इसी दौरान 14 सितंबर को रवाना होने वाले आज़मीने हज्ज के पहले क़ाफ़िले को डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर महमूद अली झंडी दिखाएंगेगे।

ये क़ाफ़िला सुबह 7 बजे हज हाउज़ से रवाना होगा जबकि फ़्लाईट 11:30 बजे दिन शम्सआबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट से परवाज़ करेगी। तवक़्क़ो हैके दूसरे दिन के क़ाफ़िले को जो शाम में रवाना होगा चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ विदा करेंगे।

आज़मीने हज्ज की रवानगी और वापसी के सिलसिले में तेलंगाना-ओ-आंध्र प्रदेश के लिए अलाहिदा शेडूल की तैयारी के पस-ए-मंज़र में आंध्र प्रदेश के आज़मीन की रवानगी के मौके पर आंध्र प्रदेश हुकूमत के वुज़रा और अवामी नुमाइंदों की शिरकत मुतवक़्क़े है।

Top Stories