Monday , December 18 2017

आज़मीने हज्ज 13 जुलाई तक दूसरी क़िस्त अदा करदें

हैदराबाद 22 जून:प्रोफ़ैसर एसए शकूर स्पेशल ऑफीसर तेलंगाना स्टेट हज कमेटी ने आज़मीने हज्ज से कहा हैके वो 13 जुलाई से क़बल मसारिफ़ हज की दूसरी क़िस्त अदा करदें बसूरत-ए-दीगर 14 जुलाई को इन का नाम मंसूख़ होजाएगा और वेटिंग लिस्ट को अपग्रेड किय

हैदराबाद 22 जून:प्रोफ़ैसर एसए शकूर स्पेशल ऑफीसर तेलंगाना स्टेट हज कमेटी ने आज़मीने हज्ज से कहा हैके वो 13 जुलाई से क़बल मसारिफ़ हज की दूसरी क़िस्त अदा करदें बसूरत-ए-दीगर 14 जुलाई को इन का नाम मंसूख़ होजाएगा और वेटिंग लिस्ट को अपग्रेड किया जाएगा।

जमा मस्जिद बी साहिबा पंजागुट्टा में आज़मीने हज्ज के तर्बीयती इजतेमा से ख़िताब करते हुए उन्होंने कहा कि इस साल हज मसारिफ़ में 20 हज़ार रुपये का इज़ाफ़ा हुआ है इसके अलावा दो सूटकेसों के 5100 रुपये भी शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि ईद के फ़ौरी बाद वैक्सीनेशन कैंप शुरू किया जाएगा। ये वैक्सीनेशन काफ़ी क़ीमती होते हैं जो चेन्नाई पहुंच चुके हैं और वहां से लगवाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सूटकेस के टोकन कई आज़मीन को वसूल होचुके हैं और बाअज़ को मिलना बाक़ी है और हर ज़िला में दो तीन मराकिज़ सूटकेस की तक़सीम के लिए क़ायम किए जा रहे हैं।

उन्होंने क़ुर्बानी के इंतेज़ामात पर भी रोशनी डाली और कहा कि इस्लामिक डेवलपमेंट बैंक के इश्तिराक से क़ुर्बानी का इंतेज़ाम किया गया है। उन्होंने कहा कि 7 हज़ार से ज़ाइद आज़मीन की रवानगी और वापसी के इंतेज़ामात करना बड़ा मुश्किल काम है हज कमेटी महिदूद स्टाफ़ के साथ ख़िदमात अंजाम दे रही है।

मुफ़्ती अबूबकर ने कहा कि आज़मीन पूरे मुआमलात साफ़ कर के और हर एक के हुक़ूक़ अदा कर के हज को जाएं। उन्होने ज़यारत रोज़ा नबवी (स०)तफ़सील के साथ बयान किए। और कहा कि अगर किसी के हुक़ूक़ अपने ज़िम्मा हूँ तो उनको अदा करदें।

TOPPOPULARRECENT