Monday , December 18 2017

आज़मीने हज को रबात में क़ियाम की सहूलत फ़राहम करने चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना संजीदा

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना जनाब मुहम्मद महमूद अली ने आज़मीने हज को उन के मुक़द्दस सफ़र हज की मुबारकबाद देते हुए कहा है कि हुकूमत तेलंगाना ख़ुसूसन चीफ़ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव आज़मीने हज को सहूलतों की फ़राहमी और उन के आराम और आसा

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना जनाब मुहम्मद महमूद अली ने आज़मीने हज को उन के मुक़द्दस सफ़र हज की मुबारकबाद देते हुए कहा है कि हुकूमत तेलंगाना ख़ुसूसन चीफ़ मिनिस्टर के चंद्रशेखर राव आज़मीने हज को सहूलतों की फ़राहमी और उन के आराम और आसाइश के ताल्लुक़ से काफ़ी दिलचस्पी है।

रियासत के आज़मीने हज के लिए मक्का मुकर्रमा में रबात की सहूलत की अदम फ़राहमी पर चीफ़ मिनिस्टर को गहरी तशवीश है और उन्हें अफ़सोस है कि इस साल रियासत तेलंगाना के हुज्जाज किराम को रबात में क़ियाम की सहूलत हासिल नहीं हो रही है।

इस लिए उन्हों ने वाअदा किया है कि वो सिंगापुर के दौरा से वापसी के बाद ममलकत सऊदी अरब का ख़ुसूसी दौरा करेंगे ताकि वहां सऊदी फ़रमांरवा मलिक अब्दुल्लाह के इलावा दीगर हुक्काम से मुलाक़ात करके इस मसअले की मुस्तक़िल यक्सूई की कोशिश करेंगे।

उन्हों ने कहा कि मक्का मुकर्रमा में आठ दस रबात थे लेकिन अब सिर्फ़ एक ही रबात बाक़ी रह गया है और वहां इस साल भी हुज्जाज किराम को सहूलत नहीं मिल सकी जो अफ़सोसनाक बात है। अगर आठ दस रबात वापिस मिल जाएं तो हुज्जाज किराम को चालीस हज़ार रुपये तक की बचत हो सकती है।

आज जामा मस्जिद आज़म पूरा में तेलंगाना स्टेट हज कमेटी के ज़ेरे एहतेमाम नौवीं मर्कज़ी तर्बीयती इजतिमा से ख़िताब करते हुए उन्हों ने ये बात कही। इस इजतिमा का एहतेमाम जमईतुल मशाइख़ के इश्तिराक से किया गया था।

जनाब महमूद अली ने कहा कि हुकूमत हज कैंप से आज़मीने हज की रवानगी के लिए तमाम मुम्किना इक़दामात करेगी। उन्हों ने कहा कि वो आज़मीन की दुआओं के तलबगार हैं और क़ौम के ख़िदमत गुज़ार की हैसियत से यहां आए हैं। उन्हों ने कहा कि हज कैंप में उन को 2100 रियाल की सऊदी करंसी दी जाएगी इस से ज़्यादा रक़म वो ले जाना चाहें तो हज कमेटी के मुस्लिमा बैंक से हासिल कर सकते हैं।

जिस का काउंटर हज कैंप में क़ायम किया जाता है। उन्हों ने कहा कि आज़मीन अगर चाहें तो अपने साथ दस हज़ार रुपये से बढ़ कर रक़म ना ले जाएं। वापसी में भी एयरपोर्ट पर बैंक का काउंटर रहेगा जहां हुज्जाज किराम अपनी रक़म तबदील कर सकते हैं। उन्हों ने कहा कि हज कैंप 12 सितंबर से शुरू हो रहा है और पहली फ़्लाईट 14 सितंबर को रवाना होगी।

आज़मीन 48 घंटे पहले रिपोर्ट करदें और हैदराबाद के आज़मीन मुक़र्ररा दिन कम अज़ कम दस घंटे क़ब्ल हज हाउज़ पहूंच जाएं। इजतिमा का आग़ाज़ क़ारी मसऊद पाशाह कादरी की क़रात कलाम पाक से हुआ।

मौलाना सैयद शाह मुस्तफ़ा अली सूफ़ी सईद पाशा ने आदाब ज़्यारत रौज़े नबवी (सल)पर रौशनी डाली और कहा कि रौज़े रसूलल्लाह सल्लल्लाह अलैहि वसल्लम पर हाज़िरी और मस्जिद नबवी की ज़्यारत की नीयत से मदीना मुनव्वरा जाना चाहीए।

TOPPOPULARRECENT