Saturday , May 26 2018

आज के ज़माने के मीर जाफर हैं नवाज शरीफ, मोदी की भाषा बोल रहे : इमरान खान

पूर्व पीएम नवाज शरीफ की तरफ से मुंबई हमले में पाकिस्तानी आतंकियों के शामिल होने के कबूलनामे के बाद इमरान खान ने अब उनपर निशाना साधा है। इमरान खान ने कहा है कि गलत तरीके से कमाए गए पैसे को छिपाने और अपने बेटों की कंपनियों के हित में पीएम नरेंद्र मोदी की भाषा बोल रहे हैं। इमरान ने नवाज को ‘मॉडर्न मीर जाफर’ तक कह डाला है।

पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने डॉन को दिए गए एक इंटरव्यू में सनसनीखेज दावा किया था। पूर्व पीएम ने माना था कि मुंबई पर हुए हमले में पाकिस्तानी आतंकी शामिल थे, जबकि पड़ोसी मुल्क हमेशा से इससे इनकार करता रहा है। इसके बाद तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के संस्थापक इमरान ने नवाज को निशाने पर लेते हुए एक ट्वीट किया है।

इमरान खान ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नवाज शरीफ आज के जमाने के मीर जाफर हैं, जिसने व्यक्तिगत लाभ के लिए देश को गुलाम बनाने में अंग्रेजों का साथ दिया। इमरान ने आगे लिखा कि नवाज गलत तरीके से कमाए गए 300 अरब रुपये और विदेशों में अपने बेटे की कंपनियों के खातिर पाकिस्तान के खिलाफ मोदी की भाषा बोल रहे हैं।

आपको बता दें कि मीर जाफर बंगाल के नवाज सिराजुद्दौला की सेना का कमांडर था। 1757 के फेमस प्लासी के युद्ध के दौरान मीर जाफर नवाब को धोखा देकर ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना के साथ जा मिला था। नतीजा इस युद्ध में सिराजुद्दौला की हार हुआ और अंग्रेजों को भारत पर कब्जा जमाने का मौका मिल गया। बाद के दिनों में गद्दारी और धोखेबाजी करने वालों को ‘मीर जाफर’ कहकर बुलाने की परंपरा शुरू हो गई।

नवाज शरीफ द्वारा इंटरव्यू में मुंबई हमले पर बोलने के बाद इमरान ने उनपर पाकिस्तान के खिलाफ होने का आरोप लगाते हुए ट्वीट में उन्हें मीर जाफर ही कहा है। नवाज शरीफ ने अपने इंटरव्यू में स्वीकार किया था कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय हैं। नवाज ने इंटरव्यू में कहा था आतंकी संगठन सक्रिय हैं, क्या हमें उन्हें सीमा पार करने और मुंबई में 150 लोगों की हत्या करने की इजाजत दे देनी चाहिए? मुझे बताइए।’ नवाज ने मुंबई हमले को ट्रायल के लंबित होने पर भी टिप्पणी की थी।

नवाज के इस कबूलनामे के बाद भारत के हाथ एक मजबूत हथियार लग गया है। भारत अरसे से अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान को आतंकवादियों को शरण और समर्थन देने का आरोप लगाता आया है। अब चूंकि यही बात पाकिस्तान के एक पूर्व पीएम ने स्वीकार की है तो पड़ोसी मुल्क की किरकिरी होनी शुरू हो गई है।

TOPPOPULARRECENT