Wednesday , December 13 2017

आज ज़ोरदार धमाका और अम्वात की अफ़्वाहें

हैदराबाद 03 जुलाई मुल्क भर में सोश्यल मीडीया पर फैले एक पैग़ाम की वजह से अवाम में बेचैनी पाई जाती है और मुख़्तलिफ़ किस्म की अफ़्वाहें गशत करने लगी हैं। 15 रमज़ान उल-मुबारक को एक धमाका ख़ेज़ आवाज़ और अम्वात की अफ़्वाहों के सबब अवाम के दरमयान

हैदराबाद 03 जुलाई मुल्क भर में सोश्यल मीडीया पर फैले एक पैग़ाम की वजह से अवाम में बेचैनी पाई जाती है और मुख़्तलिफ़ किस्म की अफ़्वाहें गशत करने लगी हैं। 15 रमज़ान उल-मुबारक को एक धमाका ख़ेज़ आवाज़ और अम्वात की अफ़्वाहों के सबब अवाम के दरमयान तज़बज़ब पाया जाता है और कई लोग परेशानी के आलम में इस वाक़िये के मुताल्लिक़ हक़ायक़ से आगही हासिल करने एक दूसरे को इस के मुताल्लिक़ वाक़िफ़ करवा रहे हैं।

शहरे हैदराबाद के अलावा रियासत के दुसरे अज़ला और मुल्क के कई मुक़ामात पर इस सिलसिले में अवाम में बेचैनी देखी जा रही है और मुंबई में तो महिकमा पुलिस ने 15 रमज़ान को हाई अलर्ट रखते हुए मुस्तइद्दी के साथ डयूटी अंजाम देने का फ़ैसला किया है।

अलावा अज़ीं मुंबई के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर चौकसी में इज़ाफे की भी हिदायात जारी करदी गई हैं। दोनों शहरों के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर अवाम 15 रमज़ान उल-मुबारक को जुमा होने के बाइस किसी वाक़िये के पेश आने के सिलसिले में गुफ़्त-ओ-शनीद करते नज़र आरहे हैं लेकिन अकाबिर उलमाए किराम ने इस तरह के किसी भी वाक़िये का रद्द करते हुए वाज़िह कर दिया हैके क़ियामत का कोई वक़्त मुतय्यन नहीं है और इस तरह की अफ़्वाहों के ज़रीये अवाम में ख़ौफ़-ओ-दहश्त फैलाना दरुस्त नहीं है।

उलमाए इकराम के अलावा पैग़ाम में जिस हवाले से बात कही गई है, इस गोशे की तरफ से भी इस बात की तरदीद करदी गई है कि हज़रत इमाम अहमद रज़ा ख़ां बरीलवी की तहरीरों का जो हवाला दिया गया है वो ग़लत अंदाज़ में पेश करते हुए अवाम में ख़ौफ़-ओ-दहश्त पैदा की गई है।

सोश्यल मीडीया वाट्सअप पर गशत कर रहे इस पैग़ाम के मुताल्लिक़ उल्मा की वज़ाहत के बावजूद इस पर यक़ीन करते हुए इस्तिफ़सार करना दरुस्त नहीं है। इसी लिए अवाम को चाहीए कि वो इस तरह की अफ़्वाहों पर ध्यान दिए बगै़र माह-ए-रमज़ान उल-मुबारक के दौरान इबादात में मशग़ूल रहें।

TOPPOPULARRECENT