Friday , June 22 2018

आज बंद रहेंगी रियासत की 18 हजार दवा दुकानें

रांची 10 मई : दवा ताजिरों ने 10 मई को आल इंडिया बंद का एलान किया है। इसके तहत मुल्क भर के 7.5 लाख दवा ताजिरों ने अपनी दुकानें बंद रखने का फैसला लिया है। यह तहरीक ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के एलान पर हो रहा है।

रांची 10 मई : दवा ताजिरों ने 10 मई को आल इंडिया बंद का एलान किया है। इसके तहत मुल्क भर के 7.5 लाख दवा ताजिरों ने अपनी दुकानें बंद रखने का फैसला लिया है। यह तहरीक ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट के एलान पर हो रहा है।

इस तहरीक की हिमायत में 10 मई को झारखंड की 18 हजार दवा दुकानें बंद रहेंगी। झारखंड केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन (जेसीडीए) के सेक्रेटरी अमर कुमार सिन्हा ने बताया कि हुकूमत की पालिसीयों के खिलाफ दवा ताजिरों ने तहरीक करने का फैसला लिया है। सार्फिन को सस्ती जेनरिक दवाएं दस्तयाब नहीं होने से ताजिर बेकरार हैं। दवा दुकानों में फार्मासिस्ट को रखना एक चैलेन्ज है। इसलिए हुकूमत की पालिसीयों में बदलाव की मांग की जा रही है। ऐसा नहीं हुआ, तो सार्फीन को दवा फराहम करना मुमकिन नहीं होगा।

यहां मिलेंगी जेनरिक दवाएं
बंद के बावजूद रिम्स और सदर अस्पताल में बनी जेनरिक दवा दुकानें खुली रहेंगी। ये दुकानें मुक़र्रर वक़्त सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक व अपराह्न् तीन बजे से शाम पांच बजे तक खुली रहेंगी।

केवल इंडोर के मरीजों को ही मिलेगी दवा

बंद का असर शहर के निजी अस्पतालों पर भी दिखेगा. सेंटेविटा, गुरुनानक अस्पताल, आर्किड अस्पताल इंतेजामिया ने बताया कि सिर्फ इंडोर मरीजों को ही दवा मिलेगी। बाहर के मरीजों को दवा नहीं मुहैया करायी जायेगी। वहीं, राज अस्पताल में दवा दुकान बंद रहेगी, लेकिन इंमरजेंसी में ज़िन्दगी मुहाफ़िज़ दवाएं दस्तयाब रहेंगी। इसके अलावा प्रभावती अस्पताल में भी दवा दुकान बंद रहेगी। यहां केवल इंडोर मरीजों के लिए दवाएं दस्तयाब रहेंगी।

TOPPOPULARRECENT