Monday , December 18 2017

आज बाबरी मस्जिद शहादत के 20 साल पूरे हुए

फ़ैज़ाबाद, 06 दिसंबर (एजेंसी) उत्तर प्रदेश के ज़िला फ़ैज़ाबाद के अयोध्या टाउन में बाबरी मस्जिद की शहादत की 20 वीं सालाना याद के पेश नज़र सारे मुल्क बिलख़सूस उत्तर प्रदेश में इंतिहाई सख़्त तरीन सेक्योरिटी इंतेज़ामात किए गए हैं। अयोध्या मे

फ़ैज़ाबाद, 06 दिसंबर (एजेंसी) उत्तर प्रदेश के ज़िला फ़ैज़ाबाद के अयोध्या टाउन में बाबरी मस्जिद की शहादत की 20 वीं सालाना याद के पेश नज़र सारे मुल्क बिलख़सूस उत्तर प्रदेश में इंतिहाई सख़्त तरीन सेक्योरिटी इंतेज़ामात किए गए हैं। अयोध्या में शहीद बाबरी मस्जिद के करीब मुतनाज़ा राम मंदिर ढाँचे को सेक्योरिटी फ़ोर्सस ने अपने मुहासिरा में ले लिया है जहां भक्तों की आमद-ओ-रफ़त पर सख़्त नज़र रखी जा रही है।

अतराफ़-ओ-अकनाफ़ के इलाक़ों में इमतिनाई अहकाम नाफ़िज़ कर दिए गए हैं। उत्तर प्रदेश के दार-उल-हकूमत लखनऊ और दीगर मुस्लिम अक्सरीयती अज़ला में भी पुलिस ने सख़्त चौकसी इख्तेयार कर ली है। इलावा अज़ीं क़ौमी दार-उल-हकूमत नई दिल्ली , बिहार , राजस्थान , मध्य प्रदेश , महाराष्ट्रा, आंधरा प्रदेश , कर्नाटक और चंद दूसरी रियासतों में भी बाबरी मस्जिद की शहादत की 20 वीं सालाना याद के मौक़ा पर मुख़्तलिफ़ मुस्लिम तनज़ीमों ने बंद और यौम ए स्याह ( Black Day) मनाने का ऐलान किया है जिसके पेश ए नज़र हस्सास मुक़ामात पर सेक्योरिटी और पुलिस मिशनरी पूरी तरह चौकस हो गई है।

अयोध्या में बाबरी मस्जिद शहादत की 20 वीं बरसी पर पहली मर्तबा इस शहर में चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी के पोस्टर्स दिखाई दे रहे हैं। इस तरह बी जे पी मुस्तक़बिल में उत्तर प्रदेश की सियासत में अपने वजूद का एहसास दिलाने की कोशिश कर रही है। बी जे पी की हमनवा तंज़ीमों विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने यहां की पुरअमन फ़िज़ा-ए-को मुकद्दर करते हुए नया नारा यूपी में गुजरात बनेगा, फ़ैज़ाबाद शुरूआत करेगा लगाया।

बाबरी मस्जिद की शहादत के मुक़ाम जाने वाले तमाम रास्तों की नाका बंदी कर दी गई है और इमकानी गड़बड़ के तहत अयोध्या । फ़ैज़ाबाद तक़रीबन 32 मुक़ामात पर रुकावटें खड़ी की गई हैं। सीनीयर सुप्रीटेंडेंट पुलिस धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि हम चौकस हैं और मुसलसल फ्लैग मार्च किया जा रहा है।

मुस्लिम और हिंदू ग्रुप्स ने 6 दिसंबर को अलैहदा प्रोग्राम्स का ऐलान किया है जिसकी वजह से उत्तर प्रदेश महकमा दाख़िला के ज़राए ने अंदेशा ज़ाहिर किया कि अयोध्या में फ़िर्कावाराना झड़पों का इमकान भी मुस्तर्द नहीं किया जा सकता। वाज़िह रहे कि 25 अक्तूबर को अयोध्या में फ़िर्कावाराना तशद्दुद का पहला वाक़िया पेश आया, जिसमें ज़िला फ़ैज़ाबाद के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर 50 से ज़ाइद दुकानात को नज़र-ए-आतिश किया गया और कई मुक़ामात पर झड़पें हुई थीं।

वज़ीर शहरी तरक्कीयात आज़म ख़ां ने साबिक़ बी जे पी रुकन असेंबली लल्लू सिंह को इन फ़िर्कावाराना फ़सादाद का ज़िम्मेदार क़रार दिया और दावा किया कि उनके पास सी डी है, जिसके ज़रीया वो अपने दावा का सुबूत पेश कर सकते हैं। बी जे पी लीडर्स ने आज़म ख़ां के बयान पर गुस्सा ज़ाहिर करते हुए ये सी डी मंज़र-ए-आम पर लाने का चैलेंज किया।

बी जे पी के फ़ैज़ाबाद ज़िला सदर राम कृष्णा तीवारी ने मुस्तक़बिल के मंसूबों का ऐलान करते हुए कहा कि हम यहां गुजरात के हालात पैदा करना चाहते हैं और इसके लिए हमें मोदी की ज़रूरत है। उन्होंने ये एतराफ़ भी किया कि अयोध्या में बी जे पी ने बैनर्स पर पहली मर्तबा नरेंद्र मोदी की तसावीर लगाई हैं।

इस दौरान राम जन्मभूमि , बाबरी मस्जिद मुक़द्दमा के सबसे अव्वलीन दरख़ास्त गुज़ार हाशिम अंसारी ने सयासी जमातों से पुरअमन माहौल को मुकद्दर ना करने की ख़ाहिश की। उन्होंने हैदराबाद से मजलिस के रुकन पार्लीमेंट के हालिया बयान का हवाला दिया और कहा कि बाअज़ हिंदू और मुस्लिम ग्रुप्स फ़िर्कावाराना कशीदगी पैदा करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि हम सब को सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसला का इंतेज़ार करना चाहीए और क़ानून की बालादस्ती मुक़द्दम होनी चाहीए।

TOPPOPULARRECENT