आठ हाजियों का इंतिक़ाल

आठ हाजियों का इंतिक़ाल
बिहार से हज पर गये 6,171 हुज्जाज किराम लौट आये हैं। हाजियों का आखिरी जत्था मंगल को गया एयरपोर्ट पर उतरा। गया से ही तमाम हुज्जाज किराम अपने-अपने घर के लिए रवाना हो गये। जबकि हज के दौरान आठ हाजियों का इंतिक़ाल हो गया, और एक लापता है।

बिहार से हज पर गये 6,171 हुज्जाज किराम लौट आये हैं। हाजियों का आखिरी जत्था मंगल को गया एयरपोर्ट पर उतरा। गया से ही तमाम हुज्जाज किराम अपने-अपने घर के लिए रवाना हो गये। जबकि हज के दौरान आठ हाजियों का इंतिक़ाल हो गया, और एक लापता है।

हज कमेटी के पीआरओ नवाब मतिउर्रहमान ने बताया कि बिहार से हाजियों का पहला जत्था 15 सितंबर को जेद्दा गया था, जबकि आखरी जत्था नौ अक्तूबर को रवाना हुआ है। वहीं, हाजियों का पहला जत्था 26 अक्तूबर को लौटा था। उन्होंने बताया कि इस साल 6,180 लोग हज पर गये थे।

इनमें सुपौल की बीबी आमना, पटना के शफीक, मशरिकी चंपारण के अब्दुल गफर, वैशाली के रजी अहमद अंजुम, सहरसा के शिवली, किशनगंज के खलीलुर्रहमान, खगड़िया के असलम और अब्दुल कादिर की हज के दौरान उनका इंतेकाल हो गया, जबकि हाजीपुर के मो खलील लापता हो गये।

गया में हुज्जाज किराम के आखरी जत्थे की अगवानी करनेवालों में सेंटर हज कमेटी के मेम्बर हाजी अब्दुल हक, रियासत हज कमेटी के मेम्बर नेयाज अहमद, हज इमारत के नुमाइंदा मतिउर्रहमान, कन्वेनर मुमताज आलम के अलावा गया के डीएम, बीडीओ शामिल थे।

Top Stories