आडवाणी की गिरफ्तारी के नाम पर घबरा गए थे लालू: पासवान

आडवाणी की गिरफ्तारी के नाम पर घबरा गए थे लालू: पासवान

नई दिल्ली: फिर्कापरस्ती को लेकर ज़हर पीने और भारतीय जनता पार्टी के सीनीयर लीडर लाल कृष्ण आडवाणी को रथयात्रा के दौरान गिरफ्तार करने का गुरूर रखने वाले राष्ट्रीय जनता दल के चीफ लालू प्रसाद यादव को जब ऐसा करने की हिदायत दी गयी तो वह घबरा गए थे.

‍‍‍‍…. और यह दावा लोक जनशक्ति पार्टी के चीफ और मरकज़ी वज़ीर राम विलास पासवान ने गुजुमेरात के रोज़ प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में प्रेस से “मिलिए” प्रोग्राम किया. उन्होंने कहा कि 1990 में उस वक्त के वज़ीर ए आज़म विश्वनाथ प्रताप सिंह ने अचानक यादव को फोन कर आडवाणी को बिहार में गिरफ्तार करने की हिदायत दिये तो लालू यादव घबरा गए.

पासवान ने कहा कि यादव ने सिंह को बताया कि भाजपा लीडर की गिरफ्तारी से फिर्कावाराना दंगे हो जाएंगे. उन्होंने बताया कि पहले आडवाणी की गिरफ्तारी उत्तर प्रदेश में करने का मंसूबा बना थी और उस वक्त के वज़ीर ए आला मुलायम सिंह यादव को यह जिम्मेदारी सौंपी गयी थी.

उन्होंने कहा कि लालू यादव मंडल कमीशन का मसीहा बनने की कोशिश करते हैं, लेकिन हकीकत यह है कि श्री वी पी सिंह ने इसे लागू करने का हिम्मत किया था. लेकिन, अफसोस की बात है कि जिन फिर्के को इससे फायदा हुआ उस फिर्के के लोग भी अब उन्हें भूल गए.

Top Stories