आडवाणी के बाद अब मुरली मनोहर जोशी का भी टिकट कटा !

आडवाणी के बाद अब मुरली मनोहर जोशी का  भी टिकट कटा !

भारतीय जनता पार्टी ने लालकृष्ण आडवाणी के बाद अब कानपुर से भाजपा सांसद रहे डा. मुरली मनोहर जोशी का टिकट भी काट दिया है। मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के मतदाताओं के नाम पत्र जारी कर चुनाव न लड़ने की बात का खुलासा किया। उन्होंने पत्र में कहा कि भाजपा के संगठन महामंत्री ने उनसे कहा कि उन्हें कानपुर ही नहीं कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।

सोमवार को कानपुर के वोटरों को डा.जोशी ने पत्र जारी कर खुद इसकी जानकारी दी। बिना उनके हस्ताक्षर वाले इस पत्र की सत्यता की पुष्टि स्वयं उनके निजी सचिव ललित अधिकारी ने की है। यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मतदाताओं को लिखे दो लाइन के पत्र में डॉ. जोशी ने कहा है कि सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) रामलाल की ओर से बताया गया कि उन्हें कानपुर ही नहीं, कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। हालांकि इस पत्र पर उनके हस्ताक्षर नहीं होने और पत्र भाषा से उनकी असंतुष्टि के संकेत भी मिल रहे हैं।

कानपुर नगर संसदीय क्षेत्र से डॉ. जोशी ने पिछले चुनाव में 2.22 लाख से ज्यादा मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। उनको 4.74 लाख वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस के श्रीप्रकाश जायसवाल 2.51 लाख वोट हासिल कर सके थे। इधर पिछले तीन महीने में उन्होंने शहर में कई योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया था। इससे उनके दोबारा चुनाव लड़ने की संभावना जताई जा रही थी। दो दिन पहले डॉ. जोशी के कानपुर दौरे का कार्यक्रम भी जारी किया गया था। उन्हें यहां के प्रसिद्ध गंगा मेले में शामिल होना था। अब यह दौरा स्थगित कर दिया गया है।

चुनाव नहीं लड़ने की औपचारिक सूचना के बाद डॉ. जोशी ने अपने मतदाताओं के लिए पत्र जारी किया। निजी सचिव ललित अधिकारी ने हिन्दुस्तान से बातचीत में यह साफ किया कि पत्र सांसद ने ही जारी किया है। उन्होंने बताया कि संगठन के फैसले के तहत डॉ. जोशी चुनाव नहीं लड़ेंगे।

Top Stories