Monday , December 18 2017

आडवाणी को अभी कमतर ना समझें , शिवसेना का मश्वरा

बी जे पी को आडवाणी के टिकट मसले पर तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए शिवसेना ने सवाल उठाया कि क्यों पार्टी ने उन की लोक सभा नशिस्त तय‌ करने के लिए इस क़दर वक़्त लिया और कहा कि अगरचे नरेंद्र मोदी का दौर शुरू हुआ है, लेकिन इसका मतलब नहीं कि आडव

बी जे पी को आडवाणी के टिकट मसले पर तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए शिवसेना ने सवाल उठाया कि क्यों पार्टी ने उन की लोक सभा नशिस्त तय‌ करने के लिए इस क़दर वक़्त लिया और कहा कि अगरचे नरेंद्र मोदी का दौर शुरू हुआ है, लेकिन इसका मतलब नहीं कि आडवाणी का दौर ख़त्म होचुका है।

आडवाणी का नाम बी जे पी लोक सभा उम्मीदवारों की पहली फ़हरिस्त में होना चाहिए था। एसा नहीं हुआ। वो जिस ने पार्टी को प्रवान चढ़ाया और उसे ख़ुशी के दिन दिखाये उसको मुंतज़िर रखा गया, सदर शिवसेना उद्धव ठाकरे ने ये बात कही। सदर सेना ने यहां पार्टी तर्जुमान सामना के ईदारिया में कहा कि क्यों बी जे पी को आडवाणी का हलक़ा तय‌ करने के लिए इतना तवील वक़्त लेना चाहिए। एसा करना उनकी तौहीन है।

आडवाणी से नामुनासिब रवैय्ये पर बी जे पी को निशाना बनाते हुए ईदारिया में कहा गया कि नरेंद्र मोदी का दौर शुरू हुआ है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आडवाणी का दौर ख़त्म होगया। बी जे पी के वेटरन का सियासी किरदार कोई भी दाग़ से पाक है।

TOPPOPULARRECENT