Wednesday , January 17 2018

आडवाणी, शत्रुघ्न नीतीश के हल्फबरदारी तकरीब में मदऊ

पटना : बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी के सीनियर लीडर लालकृष्ण आडवाणी और भाजपा एमपी शत्रुघ्न सिन्हा को 20 नवंबर के अपने हलफ़्बर्दारी तकरीब में मदऊ किया है। नीतीश कुमार के करीबी जनता दल (युनाइटेड) के एक लीडर ने कहा कि आडवाणी और शत्रुघ्न सिन्हा को गांधी मैदान में मुनक्कीद हलफ़बरदारी तकरीब में मदऊ किया गया है। हमने दोनों को इन्विटेशन भेज दिया है।

बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब में भाजपा नीतीश कुमार के महागठबंधन से बुरी तरह हार गई, फिर भी शत्रुघ्न सिन्हा ने नीतीश की बार-बार तारीफ की है। आडवाणी के मन में भी नीतीश के फी ताल्लुक की बात कही जाती है। वजीरे आजम नरेंद्र मोदी और पार्टी सदर अमित शाह समेत भाजपा के किसी भी दीगर लीडर को इन्विटेशन नहीं भेजा गया है।

हलफ़्बर्दारी तकरीब में कांग्रेस सदर सोनिया गांधी और नायब सदर राहुल गांधी, दिल्ली के वजीरे आला अरविंद केजरीवाल, मगरीबी बंगाल की वजीरे आला ममता बनर्जी, ओडिशा के वजीरे आला नवीन पटनायक और उत्तर प्रदेश के वजीरे आला अखिलेश यादव के शामिल होने की इमकानात है।

जद (यू) के लीडरों का कहना है कि इस हलफ़्बर्दारी तकरीब में मुल्क में ओपोजीशन की एक नई इत्तिहाद की शुरुवात होगी। तकरीब के अहम चेहरा राजद सदर लालू प्रसाद होंगे। साबिक़ वजीरे आजम एच.डी. देवेगौड़ा, झारखंड के साबिक़ वजीरे आला बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन व इनेलो लीडर अभया चौटाला भी हलफ़्बर्दारी तकरीब में मौजूद रह सकते हैं।

लालू प्रसाद और जद (यू) सदर शरद यादव चीफ़ गेस्ट में होंगे। जद (यू) लीडरों के मुताबिक, नीतीश कुमार 20 नवंबर को 36 वजीरों के साथ वजीरे आला के तौर में हल्फबरदारी लेंगे। कबीले ज़िक्र है कि 243 रुकनी बिहार एसेम्बली में 80 सीटों के साथ राजद सबसे बड़ी पार्टी है।

उसके बाद 71 सीटों के साथ जद (यू), 53 सीटों के साथ भाजपा और फिर कांग्रेस (27 सीटें) का मुकाम है। नई हुकूमत में 16 वज़ीर राजद से, 15 जद (यू) से और पांच कांग्रेस से होंगे।

TOPPOPULARRECENT