Thursday , June 21 2018

आतंकवादियों का सफाया ज़रूरी – नवाज़ शरीफ़

पाकिस्तान में बलूचिस्तान के क्वेटा शहर में एक अस्पताल के भीतर संदिग्ध आत्मघाती हमले में कम से कम 70 लोग मारे गए हैं और सौ से ज़्यादा घायल हुए हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने इस हमले पर गहरा दुख और नाराज़गी जताई है।

क्वेटा में एक बैठक में प्रधानमंत्री शरीफ़ ने सुरक्षा बलों से कहा कि वे चरमपंथियों को खत्म कर दें। पाकिस्तान तालिबान के गुट जमात उल अहरार ने हमले की ज़िम्मेदारी ली है। अस्पताल में धमाके के बाद गोलियां भी चली हैं।

मृतकों में कम से कम 18 वकील हैं जो अपने एक वरिष्ठ सहयोगी बिलाल अनवर कासी की हत्या के बाद अफ़सोस में अस्पताल पहुंचे थे। कासी की गोली मारकर हत्या की गई थी। लेकिन बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री सनाउल्लाह ज़ेहरी ने इस हमले के पीछे भारत का हाथ होने का अंदेशा जताया है।

क्वेटा में इस तरह के हमले पहले भी होते रहे हैं जहां लोगों को चुन-चुनकर निशाना बनाया गया है। इस तरह के हमलों का संबंध अलगाववादियों से जोड़ा जाता है।

TOPPOPULARRECENT