Tuesday , December 12 2017

आतंकवाद केस में बिलाल को उम्रकैद, लश्करे तैयबा से संबंध का था आरोप

बेंगलुरु: बेंगलुरु में आतंकवाद के मामले में दोषी करार दिए गए बिलाल नामक एक व्यक्ति को अदालत ने उम्रक़ैद की सजा सुनाई है। बेंगलुरु की सिटी सिविल कोर्ट ने यह सजा सुनाई। गौरतलब है कि लश्करे तैयबा से संबंध रखने के आरोप में बिलाल को 2007 में गिरफ्तार किया गया था।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क प्रदेश 18 के अनुसार बेंगलुरु की सिटी सिविल कोर्ट में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बिलाल को पेश किया गया। न्यायमूर्ति कोटरेश एम हीरमठ पर सम्मिलत एक सदस्यीय खंडपीठ ने बिलाल क उम्रक़ैद की सजा सुनाई। 04 अक्टूबर को अदालत ने बिलाल को दोषी करार दिया था। उल्लेखनीय है कि बिलाल को वर्ष 2007 में बेंगलुरु की सेंट्रल क्राइम ब्रांच पुलिस ने गिरफ्तार था।
अदालत में पेशी के बाद बिलाल ने जज के सामने खुद को बुगुनाह बताया। बिलाल ने कहा कि वह आतंकवादी नहीं है। बल्कि एक अच्छा भारतीय और शिक्षित है। बिलाल ने कहा कि गिरफ्तारी के समय उसके पास मौजूद गन नकारा थी। दूसरी ओर सरकारी वकील ने बिलाल को सख्त से सख्त सजा देने की अदालत से अपील की। आख़िरकार अदालत ने मुजरिम ठहराए गए बिलाल को उम्रकैद की सजा की घोषणा की।
आपको बतादें कि बेंगलुरु में हाल के दिनों में ये दूसरी घटना है जहां अदालत ने आतंकवाद के मामले में फिरफ्तार आरोपी को दोषी करार दिया है। इससे पहले 13 युवाओं को अदालत ने आतंकवाद के आरोप में दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी।

TOPPOPULARRECENT