आतंकवाद को अपनी नीति के तौर पर इस्तेमाल करने वाले देशों में ही आतंकी आश्रय ढूंढते हैं- सुषमा स्वराज

आतंकवाद को अपनी नीति के तौर पर इस्तेमाल करने वाले देशों में ही आतंकी आश्रय ढूंढते हैं- सुषमा स्वराज

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से इतर शंघाई सहयोग संगठन में हिस्सा लेने पहुंचीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आतंकवाद पर बोलते हुए कहा कि आतंकवाद को किसी भी तरह से जायज नहीं ठहराया जा सकता।

स्वराज ने शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के अपने समकक्षों के सामने कहा कि भारत सभी तरह के आतंकवाद और उसके स्वरूपों की निंदा करता है। आतंकवाद के किसी रूप को उचित नहीं ठहराया जा सकता।’ उन्होंने कहा कि एससीओ देशों के साथ संपर्क भारत की प्राथमिकता है।

न्यूयॉक में आयोजित सहयोग संगठन सुषमा ने कहा कि हम हमारे समाजों के बीच सहयोग और विश्वास का मार्ग प्रशस्त करने के लिए संपर्क चाहते हैं।

नाम लिए बगैर सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। सुषमा ने कहा कि आतंकी उन देशों में समर्थन और आश्रय ढूंढते हैं जो आतंकवाद को अपनी नीति के तौर पर पर इस्तेमाल करते हैं।

Top Stories