Saturday , December 16 2017

आतंकवाद पीड़ितों की मदद के लिए पूर्व आईपीएस वंजारा ने शुरू की एनजीओ

अहमदाबाद:  इशरत जहां और सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामलों के आरोपी और गुजरात के पूर्व डीआईजी डी जी वंजारा जो फ़िलहाल ज़मानत पर हैं, ने बताया कि वह आतंकवाद के शिकार लोगों के मानवाधिकारों की रक्षा करने और उनको क़ानूनी मदद देने के लिए एक एनजीओ की शुरूआत  करेंगे |
इस एनजीओ में वंजारा, के अलावा गुजरात के पूर्व पुलिस महानिदेशक एस एस खंडवावाला और महाराष्ट्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक के पी रघुवंशी भी शामिल रहेंगे | वंजारा ने बताया कि उन्होंने एनजीओ का रजिस्ट्रेशन करा लिया है और इसकी औपचारिक शुरुआत 9 अक्टूबर से की जाएगी | एनजीओ के महासचिव के तौर पर वंजारा और अध्यक्ष, खंडवावाला और उपाध्यक्ष के पी रघुवंशी ,  मुठभेड़ मामलों में वंजारा के वकील वी डी गज्जर, सचिव होंगे |

गुजरात के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) के पूर्व प्रमुख ने वंजारा कहा कि आतंकवाद एक वैश्विक समस्या है और भारत को भी इसका सामना करना पड़ रहा है। देश में कई गैर सरकारी संगठन हैं जो  आतंकवादियों के मानवाधिकारों की रक्षा के लिए काम कर रहे हैं। हमारे एनजीओ का मक़सद आतंकवाद के शिकार लोगों के मानवाधिकारों की रक्षा करना होगा | उन्होंने कहा कि कई निर्दोष लोग जो आतंकवादी हमलों के पीड़ित हैं | हम अपनी एनजीओ के माध्यम से उन लोगों को क़ानूनी मदद देने के साथ एक ऐसा मंच मुहैय्या कराना चाहते हैं जहाँ वे अपने ऊपर हुए ज़ुल्म के बारे में बात कर सकें |

एनजीओ के उद्घाटन समारोह में खुफिया ब्यूरो के पूर्व विशेष निदेशक राजिंदर कुमार और जस्टिस (रिटायर्ड ) बीजे सेठना मुख्य अतिथि होंगे | इस समारोह की अध्यक्षता दिल्ली और जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायधीश और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य जस्टिस (रिटायर्ड ) बीसी पटेल करेंगे  |

 

TOPPOPULARRECENT