आदित्य ठाकरे को राहुल गांधी बताने के आलावा, अंजना ओम कश्यप का विवादों से है पुराना रिश्ता

आदित्य ठाकरे को राहुल गांधी बताने के आलावा, अंजना ओम कश्यप का विवादों से है पुराना रिश्ता

अंजना ओम कश्यप (Anjana Om Kashyap) एक वरिष्ठ पत्रकार हैं और उन्हें पत्रकारिता का एक लम्बा अनुभव भी रहा है। परन्तु इसके बाद भी वर्ष 2019 में अंजना को अभी तक तीन बार लोगों की आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा। हालिया मामला शिवसेना (Shiv Sena) नेता आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) का है जिसके अंतर्गत कल एक वीडियो वायरल हुआ जिसमे अंजना आदित्य को शिवसेना का राहुल गांधी (Rahul Gandhi) बताती हुई सुनाई दे रहीं थी। उन्होंने कहा की “ये शिवसेना का राहुल गांधी साबित होगा, लिख के रख लीजिये।”

बहरहाल यह पहली बार नहीं है की अंजना विवादों में फंसी हैं। इसी साल यानी 2019 में ही उन्हें दो बार लोगों की आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा है। इसी साल जून महीने में जब बिहार में इंसेफ्लाइटिस (चमकी बुखार) फैला तब उसकी रिपोर्टिंग के लिए गयीं अंजना को आलोचना सहनी पड़ी थी। इसके अलावा बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा और उसके प्रेमी अजितेश के मामले में अंजना की रिपोर्टिंग परभी सवाल खड़े किये गए थे।

बिहार (Bihar) में इस वर्ष इंसेफ्लाइटिस (Encephalitis) (चमकी बुखार) ने भयंकर रूप अख्तियार कर लिया था और इससे मरने वालों की संख्या सौ को पार कर गई थी। इसके बाद अंजना खुद बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) ग्राउंड रिपोर्टिंग के लिए पहुँच गयीं थी। अपनी रिपोर्टिंग के दौरान वे मुजफ्फरपुर के श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज (Sri Krishna Medical College) पहुंची और कैमरा माइक लेकर सीधे ICU में पहुँच गयीं। इस दौरान उन्होंने हॉस्पिटल के डॉक्टर और स्टाफ्स को खूब डांटा, चीखा चिलाया। अंजना इस दौरान हॉस्पिटल स्टाफ से संवेदनशीलता की बात कर रहीं थीं पर खुद यह पूछते हुए असंवेदनशील हुई जा रहीं थी। अंजना की इसी असंवेदनशील की उस दौरान खूब आलोचना हुई।

जुलाई महीने में बरेली (Bareilly) से भाजपा के विधायक राजेश मिश्रा (Rajesh Mishra) की बेटी साक्षी मिश्रा (Sakshi Mishra) और उसके प्रेमी अजितेश (Ajitesh) की प्रेम कहानी मीडिया में सुर्खियाँ बटोर रही थीं। इस दौरान दोनों प्रेमी युगल आजतक के कार्यालय पहुँच गए जहाँ उनके इंटरव्यू का जिम्मा सम्हाला अंजना ओम कश्यप ने। इस दौरान अंजना ने साक्षी के पिता और भाजपा नेता राजेश मिश्रा उर्फ़ पप्पू भरतौल (Pappu Bharataul) से बड़े शख्त लहजे में सवाल पूछ जिससे देश का एक बड़ा वर्ग अंजना से नाराज हो गया और उनकी आलोचना करने लगा। इस मामले में अंजना पर एक पक्ष की तरफ कुछ ज्यादा झुका होने का आरोप लगा जिसकी वज़ह से उनकी आलोचना हुई।

बहरहाल अब हालिया मामले में शिवसेना समर्थक उनकी आलोचना कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने उनके नेता आदित्य ठाकरे पर विवादस्पद बयान दे दिया है। हालांकि इस बयान के बाद अंजना ने ट्वीट के माध्यम से माफ़ी मांग ली है और कहा है की इसका उन्हें अफ़सोस है।

Top Stories