Friday , December 15 2017

आधार कार्ड्स की इजराई काम आइन्दा 6 माह में मुकम्मल

रियास्ती वज़ीर सिविल स्पलाईज़ डी सिरीधर बाबू ने क़ानून साज़ असेंबली को बताया कि रियासत में पहले मरहले के तौर पर आधार कार्ड्स की इजराई का काम आइन्दा 6 माह में मुकम्मल करलिया जाएगा । उन्हों ने बताया कि मर्कज़ी हुकूमत की हिदायत पर 15

रियास्ती वज़ीर सिविल स्पलाईज़ डी सिरीधर बाबू ने क़ानून साज़ असेंबली को बताया कि रियासत में पहले मरहले के तौर पर आधार कार्ड्स की इजराई का काम आइन्दा 6 माह में मुकम्मल करलिया जाएगा । उन्हों ने बताया कि मर्कज़ी हुकूमत की हिदायत पर 15 फ़रवरी से आधार कार्ड के लिए दरख़ास्तों की वसूली का काम रोक दिया गया था ।

असेंबली में वकफ़ा-ए-सवालात के दौरान तमाम जमातों के अरकान असेंबली ने आधार कार्ड की इजराई में ताख़ीर और बे क़ाईदगियों की शिकायत की । अपोज़ीशन अरकान ने इल्ज़ाम आइद किया कि आधार कार्ड की इजराई के लिए जो टेंडर्स तलब किए गए हैं इन में बे क़ाईदगीयाँ हुई हैं। वज़ीर सिविल स्पलाईज़ ने बताया कि फ़रवरी 2009 में हर शहरी को मुनफ़रिद शनाख़ती नंबर की इजराई का मर्कज़ी हुकूमत ने फ़ैसला किया। जिस के बाद पहले मरहले के तौर पर हैदराबाद के इलावा 6 दूसरे अज़ला का इंतिख़ाब किया गया है । इन 7 अज़ला में तीन करोड़ अफ़राद को आधार कार्ड जारी करने का मंसूबा बनाया गया ।

2010 में टेंडर्स तलब किए गए और 29 रुपये फ़ी कार्ड की मालियत पर टेंडर्स मंज़ूर किया गया । महिकमा सिविल स्पलाईज़ के इलावा दूसरे अज़ला में मुख़्तलिफ़ बैंक्स को ये ज़िम्मेदारी दी गई है । महकमा सिविल स्पलाईज़ ने अपने तहत के इस काम में फ़ी कार्ड 21 रुपये की बचत की है सिरीधर बाबू ने कहा कि आधार कार्ड के लिए एनरोलमेंट के बाद तफ़सीलात को बैंगलौर रवाना किया जाता है जहां आधार कार्ड नंबर अलॉट होगा । हर शहरी को मख़सूस शनाख़ती नंबर के मक़सद से मर्कज़ ने ये स्कीम शुरू की और उसे मार्च में शुरू करने का मंसूबा था लेकिन बाअज़ तकनीकी वजूहात के सबब ताख़ीर हुई है ताहम यक्म अप्रैल से एनरोलमैंट का दुबारा आग़ाज़ होगा ।

उन्हों ने एतराफ़ किया कि आधार कार्ड की इजराई में बाअज़ बे क़ाईदगियों का इन्किशाफ़ हुआ है । महकमा सिविल स्पलाईज़ ने अपनी वीजलनस टीमों के ज़रीया उस की तहक़ीक़ात शुरू की है । सिरीधर बाबू ने उम्मीद ज़ाहिर की कि आइन्दा 6 माह में 7 अज़ला में आधार कार्ड की इजराई का काम मुकम्मल हो जाएगा । आधार कार्ड की अहमीयत का ज़िक्र करते हुए सिरीधर बाबू ने कहा कि आने वाले दिनों में पैंशन ,स्कालरशिप और दूसरी सहूलतों के लिए ये हमा मक़सदी कार्ड के तौर पर इस्तिमाल में आएगा , बाअज़ अज़ला में बैंकों को कार्ड की ज़िम्मेदारी दी गई है उन्हों ने कहा कि ये स्कीम मर्कज़ी हुकूमत की है और रियास्ती हुकूमत का कोई ख़र्च इस में शामिल नहीं ।

उन्हों ने आधार कार्ड के बगै़र राशन की सरबराही रोकने की इत्तेलाआत की तरदीद की और कहा कि अगर किसी दूकान ने राशन देने से इनकार किया तो इस के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी। वज़ीर सिविल स्पलाईज़ ने बताया कि मर्कज़ ने इस स्कीम पर अमल आवरी के लिए मुख़्तलिफ़ रजिस्ट्रार का तक़र्रुर किया है इन में एक महकमा सिविल स्पलाईज़ है ।

उन्हों ने वज़ाहत की कि जिन अफ़राद के कार्ड अभी वसूल नहीं हुए वो मौजूदा राशन कार्ड या कोपनस के ज़रीया राशन हासिल कर सकते हैं। तेलगुदेशम रुक्न पी केशव ने आधार कार्ड की इजराई के टेंडर्स में बे क़ाईदगियों से मुताल्लिक़ अख़बारी इत्तेलाआत का हवाला दिया।

TOPPOPULARRECENT