आधार कार्ड की इजराई के लिए नए मराकिज़ के क़ियाम की हिदायत

आधार कार्ड की इजराई के लिए नए मराकिज़ के क़ियाम की हिदायत
हैदराबाद 07 फ़बरोरी: रियास्ती चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने वाज़िह तौर पर कहा कि आधार कार्ड से मरबूत सब्सीडी ग़ियास सलेंडरस की फ़राहमी के लिए 15 फ़बरोरी आख़िरी तारीख़ नहीं है।

हैदराबाद 07 फ़बरोरी: रियास्ती चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने वाज़िह तौर पर कहा कि आधार कार्ड से मरबूत सब्सीडी ग़ियास सलेंडरस की फ़राहमी के लिए 15 फ़बरोरी आख़िरी तारीख़ नहीं है।

रियासती अवाम बिलख़सूस शहर हैदराबाद और ज़िला रंगा रेड्डी के अवाम को परेशानी-ओ-तशवीश में मुबतला होने की ज़रूरत नहीं है। मर्कज़ी हुकूमत बिशमोल ऑयल कंपनीयों की तरफ से मुद्दत में तौसी की जा रही है। आधार कार्ड से मरबूत सब्सीडी ग़ियास सलेंडरस की फ़राहमी के मसले पर शकूक-ओ-शुबहात को ख़त्म करने के लिए रियास्ती चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने आज आला ओहदेदारों बिशमोल रियास्ती चीफ़ सेक्रेटरी के साथ आला सतही हंगामी इजलास तलब किया।मीटिंग में आधार कार्ड के लिए अवाम को दरपेश मसाइल और आधार कार्ड से मरबूत सब्सीडी ग़ियास सलेंडरस की फ़राहमी पर तफ़सीली ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया गया।

चीफ़ मिनिस्टर ने अपने बयान में बताया कि एक मर्तबा आधार कार्ड के लिए नाम दर्ज करवाकर कार्ड‌ हासिल ना करने वाले या जिन के कार्ड‌ गुम हो गए, ऐसे अफ़राद दुबारा आधार कार्ड के लिए नाम दर्ज करवाने मराकज़ को रवाना होने की ज़रूरत नहीं है क्योंके आधार कार्ड के लिए नाम दर्ज करने का जो तरीका-ए-कार ( सिस्टम ) है दुबारा उन के नाम फ़न्नी बुनियादों पर दर्ज नहीं होसकते हैं। हैदराबाद ज़िला रंगा रेड्डी अज़ला में 60 मी सेवा मराकज़ में एक हफ़्ते के दौरान एसे अफ़राद जिन के आधार कारडज़ गुम होगए हूँ उन्हें डुप्लीकेट कारडज़ जारी करने और कारडज़ हासिल ना होने वाले अफ़राद को कारडज़ की फ़ौरी इजराई के निज़ाम को शुरू करने के लिए इक़दामात करने की चीफ़ मिनिस्टर ने मुताल्लिक़ा ओहदेदारों को हिदायात दें। अलावा अज़ीं हैदराबाद और रंगा रेड्डी अज़ला में आधार कारडज़ की इजराई के लिए 300 नए आधार कारडज़ के लिए नाम दर्ज करवाने के मराकज़ फ़ौरी क़ायम करने की आला ओहदेदारों को हिदायत दें।

चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि हैदराबाद, रंगा रेड्डी के साथ साथ दीगर पायलट स्कीम अज़ला अनंतपुर, चित्तूर, मग़रिबी गोदावरी के तमाम शहरीयों के नाम दर्ज होने तक मौजूदा सब्सीडी ग़ियास सलेंडरस की सरबराही जूं की तूं इलम में लाई जाएगी जिस के पेशे नज़र किसी को भी परेशान होने या तशवीश में मुबतला होने की कोई ज़रूरत नहीं है।

Top Stories